Home » क्रिकेट » IND vs AUS 3rd Test: Indians Cricketer Racily abused by Australian Fans, Cricket Fraternity United In Criticism
 

IND vs AUS 3rd Test: भारतीय खिलाड़ियों पर की गई नस्लीय टिप्पणी का हुआ चौतरफा विरोध, हरभजन सिंह समते दिग्गजों ने कही ये बात

कैच ब्यूरो | Updated on: 10 January 2021, 22:25 IST

भारतीय खिलाड़ियों पर सिडनी क्रिकेट टेस्ट मैच में ऑस्ट्रेलियाई दर्शकों द्वारा की गई नस्लीय टिप्पणी का चौंतरफा विरोध हो रहा है. सिडनी टेस्ट के दूसरे दिन और तीसरे दिन भारतीय खिलाड़ी मोहम्मद सिराज और जसप्रीत बुमराह जब फील्डिंग कर रहे थे, उस दौरान उनके लिए दर्शकों द्वारा नस्लीय टिप्पणी की गई और अभ्रद भाषा का इस्तेमाल किया गया.

सिडनी टेस्ट के तीसरे दिन भारतीय खिलाड़ियों और टीम इंडिया के अधिकारियों ने मैच रैफरी और आईसीसी के अधिकारियों से इस मामले की शिकायत की थी. ऐसे में उम्मीद था कि चौथे दिन दर्शकों द्वारा इस तरह का व्यवहार नहीं होगा, लेकिन ऑस्ट्रेलिया की दूसरी पारी के दौरान जब भारतीय तेज गेंदबाज मोहम्मद सिराज बाउंड्री लाइन पर फील्डिंग कर रहे थे, उस दौरान भी एससीजी के दर्शकों द्वारा नस्लीय टिप्पणी जारी रही. इसके कारण मैच के 87वें ओवर के दौरान करीब 10 मिनट तक खेल रूक रहा.


वहीं अब भारतीय दिग्गज खिलाड़ियों समेत क्रिकेट के कई दिग्गजों द्वारा इस घटना की चौंतरफा निंदा की गई है. टीम इंडिया के स्पिन गेंदबाज हरभजन सिंह ने इस मामले में ट्वीट किया,"मैंने व्यक्तिगत रूप से ऑस्ट्रेलिया में खेलते हुए मैदान पर कई बातें सुनी हैं. उन्होंने मेरे रंग और धर्म को लेकर को टिप्पणी की. यह पहली बार नहीं है जब भीड़ यह बकवास कर रही है... आप उन्हें कैसे रोकेंगे?"

 

टीम इंडिया के पूर्व सलामी बल्लेबाज वीरेंद्र सहवाग ने ट्वीट कर कहा,"भारत के पूर्व विस्फोटक ओपनर वीरेंद्र सहवाग ने ट्वीट किया, "तुम करो तो कटाक्ष (Sarcasm), और कोई करे तो नस्लवाद (Racism). सिडनी के मैदान में कुछ ऑस्ट्रेलियाई दर्शक जो कर रहे हैं वो बेहद दुर्भाग्यपूर्ण हैं और वे बेहतरीन टेस्ट सीरीज का मजा किरकिरा कर रहे हैं."

 

भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व क्रिकेटर वीवीएस लक्ष्मण ने ट्वीट किया,"सिडनी के मैदान पर जो रहा है वो देखना दुर्भाग्यपूर्ण है. इस बकवास के लिए कोई जगह नहीं है. खेल के मैदान पर खिलाड़ियों को गाली देने की जरूरत कभी समझ में नहीं आई. अगर आप खेल देखने के लिए नहीं आए हैं और सम्मानजनक व्यवहार नहीं करते तो कृपया ना आएं और माहौल को खराब ना करें."

 

ऑस्ट्रेलिया के पूर्व खिलाड़ी टॉम मूडी ने कहा,"अस्वीकार्य व्यवहार. नस्लवाद के लिए कोई जगह नहीं है. मुझे उम्मीद है कि इसे सबसे गंभीर तरीके से निपटा जाएगा."

वहीं सिडनी टेस्ट के चौथे दिन बाद प्रेस से बात करते हुए कहा,"एक समाज के रूप में हम काफी विकसित हो चुके हैं और ऐसे में इस तरह का व्यवहार काफी गलत है. कहीं न कहीं इससे परवरिश और चीजों को देखने के हमारे नजरिये का पता चलता है. हमें इसे सख्ती से निपटना चाहिए और ध्यान रखना चाहिए कि आगे से ऐसा न हो."

First published: 10 January 2021, 16:01 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी