Home » क्रिकेट » IND vs AUS: Despite Fractured Thumb, I Was Ready To Bat Against Australia: Ravindra Jadeja
 

IND vs AUS: रवींद्र जडेजा ने सुनाया किस्सा, कैसे टूटी अंगुली के साथ भी खेलने को थे तैयार, लिए थे दर्द के इंजेक्शन

कैच ब्यूरो | Updated on: 24 January 2021, 10:48 IST

भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच चार टेस्ट मैचों की सीरीज का तीसरा मुकाबला सिडनी क्रिकेट ग्राउंड पर खेला गया था. इस मैच में टीम इंडिया कि पहली पारी के दौरान ऑल राउंडर खिलाड़ी रवींद्र जडेजा के अंगूठे में फ्रैक्चर हो गया था. टीम इंडिया की जब पहली पारी समाप्त हुई तो उसके बाद जडेजा को स्कैन के लिए अस्पताल लेकर जाया गया था, जहां फ्रैक्चर की बात सामने आई थी. इसके बाद जडेजा छह सप्ताह के लिए बाहर हो गए थे.

सिडनी टेस्ट के आखिरी दिन भारत जब मुश्किल परिस्थिति में फंसा तो जडेजा ने पैड पहन लिए थे और बल्लेबाजी को तैयार दिख रहे थे. उस दौरान क्रीज पर आर अश्विन और हनुमा विहारी खेल रहे थे. माना जा रहा था कि इन दोनों के आउट होने के बाद जडेजा क्रीज पर बल्लेबाजी के लिए आएंगे, लेकिन ऐसा हुआ नहीं क्योंकि इन दोनों बल्लेबाजों ने आखिरी तक संघर्ष किया और मैच को ड्रा करवाया. वहीं अब जडेजा ने उस मैच के दौरान अपनी मानसिक स्थिति को लेकर और टीम मैनेजमेंट के साथ उनकी क्या बात हुई इसको लेकर अपनी बात रखी है.


रवींद्र जडेजा ने स्पोर्ट्स टुडे' से कहा,"मैं तैयार था, पैड पहन लिए थे. इंजेक्शन भी ले लिया था. मैं सोच रहा था कि मैं कम से कम 10 से 15 ओवर तक बल्लेबाजी करूंगा और मानसिक रूप से योजना बना रहा था कि पारी कैसे खेलूंगा, कौन से शॉट खेलूंगा क्योंकि फ्रैक्चर से दर्द के कारण मेरे लिए सभी तरह के शॉट खेलना संभव नहीं था." रवींद्र जडेजा ने आगे कहा,"मैं भी हिसाब लगा रहा था कि तेज गेंदबाजों की गेंदों का सामना कैसे करूंगा, वे मुझे गेंद कहां पिच करेंगे. मैं अपनी भूमिका की योजना बना रहा था कि मैं जब 10-15 ओवर बल्लेबाजी करूंगा तो ऐसा करूंगा."

रवींद्र जडेजा ने आगे बताया,"मैंने टीम मैनेजमेंट से भी बात की थी कि मैं सिर्फ तभी बैटिंग करूंगा, अगर भारत उस दहलीज पर पहुंच जाता है, जहां मैच जीता जा सकता है. पुजारा और ऋषभ पंत अच्छी बल्लेबाजी कर रहे थे, उन्होंने साझेदारी बनाई. हमें यह भी महसूस हुआ कि हम मैच जीत सकते थे." जडेजा ने आगे कहा,"लेकिन दुर्भाग्य से, पंत आउट हो गया और इसके बाद हालात बदल गए. हमें इसके बाद ड्रॉ के लिए खेलना पड़ा."

रवींद्र जडेजा ने अश्विन और विहारी के बीच हुई साझेदारी को लेकर कहा,"अश्विन और विहारी ने जिस तरह से मैच को बचाने के लिए बल्लेबाजी की, उन्होंने बेहतरीन जज्बा दिखाया. जब टेस्ट क्रिकेट की बात आती है तो हमेशा रन बनाना अहम नहीं होता. ऐसे भी हालात होते हैं जब आपको मैच बचाना होता है. इतने सारे ओवर बल्लेबाजी करके जिस तरह से हमने मैच बचाया, यह टीम का शानदार प्रयास था."

ऑस्ट्रेलिया में टेस्ट सीरीज में डेब्यू करने वाले 6 भारतीय खिलाड़ियों को आनंद महिंद्र अपने खर्चे पर देंगे गाड़ी

First published: 24 January 2021, 10:48 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी