Home » क्रिकेट » IND vs ENG Day-Night Test: Joe Root said It is not for players to decide whether it is fit for purpose or not and that is up to the ICC
 

IND vs ENG Day-Night Test: विराट कोहली और रोहित शर्मा ने किया पिच का बचाव तो भड़के जो रूट, कहा-आईसीसी करेगा फैसला..

कैच ब्यूरो | Updated on: 26 February 2021, 11:04 IST

भारत और इंग्लैंड के बीच चार टेस्ट मैचों की सीरीज का तीसरा मुकाबला केवल दो दिनों में ही खत्म हो गया, जिसके बाद पिच को लेकर कई सवाल उठ रहे हैं. अहमदाबाद के मोटेरा स्थित नरेंद्र मोदी स्टेडियम में पिंक गेंद से हुए मुकाबले में इंग्लैंड के बल्लेबाजों ने दोनों पारियों में अक्षर पटेल और आर अश्विन के सामने सरेंडर कर दिया. पहली बारी में जहां इंग्लैंड 112 रनों पर ऑल आउट हुई तो दूसरी पारी में टीम सिर्फ 85 रन ही बना पाई. यही हाल कुछ टीम इंडिया का भी रहा.

टीम इंडिया पहली पारी में 145 रनों पर ऑल आउट हो गई थी. हालांकि, दूसरी पारी में उसने बिना कोई विकेट गंवाए मैच अपने नाम किया. इस मैच की शुरूआत से ही पिच को लेकर सवाल उठ रहे थे. हालांकि, कई दिग्गजों का मानना है कि यह पिच उतनी भी खराब नहीं थी, जितनी चेन्नई टेस्ट की पिच थी. वहीं माच के बाद विराट कोहली और रोहित शर्मा से जब पिच को लेकर सवाल पूछा गया तो उन्होंने इसका बचाव किया.


मैच के बाद विराट कोहली से जब पिच को लेकर सवाल पूछा गया तो उन्होंने कहा,"ईमानदारी से कहूं तो मुझे नहीं लगता कि बल्लेबाजी का स्तर अच्छा था. हमारा स्कोर एक वक्त 3 विकेट पर 100 रन था और हम 150 रन से कम स्कोर पर आउट हो गए. सिर्फ कोई गेंद ही टर्न ले रही थी और पहली पारी में ये बल्लेबाजी के लिए अच्छा विकेट था."

वहीं टीम इंडिया के सलामी बल्लेबाज रोहित शर्मा ने मैच के बाद हुई प्रेस कांफ्रेंस में पिच का बचाव करते हुए कहा,"जब आप ऐसी पिच पर खेलते हो तो आपके अंदर जज्बा होना चाहिए और साथ ही आपको रन बनाने की कोशिश भी करनी चाहिए. आप सिर्फ ब्लॉक नहीं कर सकते. जैसा कि आपने देखा कि कोई कोई गेंद टर्न भी ले रही थी और जब आप टर्न के लिये खेलते तो कोई गेंद स्टंप की ओर फिसल भी रही थी."

दूसरी तरफ जो रूट ने पिच की कोई गलती तो नहीं निकाली, लेकिन उन्होंने यह जरूर कहा कि पिच अच्छी है या नहीं इसका फैसला करना खिलाड़ी का नहीं बल्कि आईसीसी का काम है. जो रूट ने कहा,"मुझे लगता है कि यह पिच काफी चुनौतीपूर्ण थी. यह बल्लेबाजी के लिए बेहद मुश्किल थी. इसका फैसला खिलाड़ी नहीं करेंगे कि यह खेल के लिए सही थी या नहीं. यह आईसीसी का काम है." जो रूट ने आगे कहा,"एक खिलाड़ी के रूप में हमें जैसी भी परिस्थितियां हों उनमें अपना बेस्ट प्रदर्शन करना होता है. हम निराश हैं. मुझे लगता है कि हमने मौके गंवाए खासकर पहली पारी में. हमारा स्कोर एक समय दो विकेट पर 71 रन था और हमारे पास बड़ा स्कोर करने का सच में अच्छा मौका था."

IND vs ENG Day-Night Test: विराट कोहली ने कप्तानी में रचा इतिहास, इस मामले में धोनी को पछाड़ निकले आगे

First published: 26 February 2021, 11:00 IST
 
अगली कहानी