Home » क्रिकेट » IND vs ENG T20: England turn to Merlyn to counter India’s spin magician Kuldeep Yadav
 

कुलदीप यादव के कहर से बचने के लिए 'मर्लिन' की शरण में पहुंची इंग्लैंड

कैच ब्यूरो | Updated on: 5 July 2018, 18:50 IST
(File Photo )

भारतीय चाइनामैन गेंदबाज कुलदीप यादव से मेजबान इंग्लैंड की टीम इतने खौफ में आ गई है कि अब उसको मशीनों का सहारा लेना पड़ रहा है. कुलदीप यादव ने पहले सिरीज के पहले T20 मैच में इंग्लैंड के पांच खिलाड़ियों को आउट किया था. कुलदीप के सामने इंग्लैंड के बल्लेबाज संघर्ष करते नजर आए थे. कुलदीप ने इंग्लैंड को पुराने दिन याद दिला दिए. कुलदीप की गेदंबाजी देख इंग्लैंड को वो दिन याद आ गए जब एशेज में शेन वार्न का खौफ चल रहा था.

बता दें कि साल 2005 में शेन वार्न ने इंग्लैंड के बल्लेबाजों में खौफ पैदा कर दिया था. उस समय शेन वर्न दुनिया के नंबर एक रिस्ट गेंदबाज थे. इंग्लैंड के बल्लेबाजों को शेन वार्न के सामने मुश्किल हो रही थी. उस दौरान इंग्लैंड की टीम ने वॉर्न की गेंदबाजी से बचने के लिए एक मशीन का सहारा लिया था. इस मशीन का नाम मर्लिन है. बताया जाता है कि ये मशीन किसी भी तरह की गेंदबाजी करने में सक्षम है. जिसमें हर तरह की स्पिन शामिल है. साल 2005 में इंग्लैंड ने इसी मशीन का सहारा लिया था. लेकिन उसको इसका खास फायदा नहीं मिला था. इस दौरे पर वॉर्न ने पांच टेस्ट मैचों की सीरीज में 40 विकेट लिए थे.

इंग्लैंड की टीम एक बार फिर से यही कदम उठाने जा रही है. उसके सामने इस बार खतरा भारतीय टीम का चाइनामैन गेंदबाज कुलदीप यादव है. कुलदीप ने जिस तरह से पहले T20 मैच में गेंदबाजी की थी, उसने इंग्लिश बल्लेबाजों की नींद उड़ा रखी है. पहले मैच में फॉर्म चल रहे बटलर को भी कुलदीप के सामने अपने आपको संभाल के खेलना पड़ा था. हालांकि बाद में कुलदीप ने बटलर को पवेलियन भेजा.

यही वजह है कि किलदीप की गेंदबाजी इंग्लैंड के लिए परेशानी बन गई है. पहले T20 में मिली हार के बाद उसके ऊपर दबाव भी बढ़ गया है. ऐसे में वो कुलदीप यादव का तोड़ निकालना चाहती है. इसके लिए इंग्लैंड की टीम ने स्पिन कराने वाली मशीन मर्लिन की मदद लेना चाहती है. हालांकि मर्लिन मशीन को इंग्लैंड को कितना फायदा मिला है. इसका पता तो शुक्रवार को होने वाले दूसरे T20 मैच में ही पता चल पाएगा.

ये भी पढ़ें- धोनी इंग्लैंड के खिलाफ मैदान में कदम रखते ही बना देंगे एक और रिकॉर्ड

First published: 5 July 2018, 18:50 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी