Home » क्रिकेट » ind vs sa second test sunil gavaskar raises questions on team selection says shikhar dhawan is being made a scapegoat
 

नाराज गावस्कर बोले: धवन को बनाया गया बलि का बकरा, भुवनेश्वर को बाहर करना समझ से परे

कैच ब्यूरो | Updated on: 14 January 2018, 8:48 IST

भारत और साउथ अफ्रीका के बीच तीन टेस्ट मैचों की सीरीज का दूसरा मुकाबला कल से सेंचुरियन में खेला जा रहा है. सेंचुरियन टेस्ट के पहले दिन साउथ अफ्रीका ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करते हुए दिन का खेल समाप्त होने तक 6 विकेट गंवाकर 269 रन बना लिए. जब खेल शुरू हुआ था तो टीम इंडिया के प्लेइंग इलेवन को देखकर कई लोग आश्चर्यचकित रह गएथे . इसे लेकर कई लोगों ने कप्तान कोहली पर सवाल भी उठाए.

भारत-साउथ अफ्रीका के बीच दूसरे टेस्ट मैच में कप्तान कोहली द्वारा किया गया टीम चयन पूर्व क्रिकेटर सुनील गावस्कर को भी रास नहीं आया। पूर्व कप्तान ने कोहली के टीम चयन पर सवाल उठाते हुए तीखी प्रतिक्रिया दी. दरअसल दूसरे टेस्ट में शिखर धवन को स्थान नहीं दिया गया है.

यह सेलेक्शन सुनील गावस्कर को रास नहीं आया और उन्होंने धवन को बलि का बकरा बता दिया. यही नहीं भुवनेश्वर कुमार की जगह ईशांत शर्मा का चुना जाना भी पूर्व कप्तान को रास नहीं आया. गावस्कर ने टीम के चयन पर सवाल उठाते हुए कहा कि सलामी बल्लेबाज शिखर धवन के सिर पर हमेशा तलवार लटकी रहती है.

गावस्कर ने कहा, ‘मेरा मानना है कि शिखर धवन बलि का बकरा बनाया गया है. उसके सिर पर हमेशा तलवार लटकी रहती है. बस एक खराब पारी के बाद उसे टीम से बाहर कर दिया जाता है.’ उन्होंने कहा, ‘मेरी समझ से परे है कि ईशांत को भुवनेश्वर की जगह क्यों चुना गया. ईशांत टीम में शमी या बुमराह की जगह ले सकता था लेकिन भुवनेश्वर को बाहर रखना समझ से बाहर है.’

गौरतलब है कि भारतीय टीम ने तीन बदलाव करते हुए केएल राहुल को शिखर धवन की जगह ईशांत शर्मा को भुवनेश्वर कुमार की जगह और विकेटकीपर पार्थिव पटेल को रिद्धिमान साहा के स्थान पर शामिल किया है.

फिलहाल केपटाउन में खेले गए पहले मैच में जीत हासिल करते हुए दक्षिण अफ्रीका ने तीन टेस्ट मैचों की सीरीज में 1-0 से बढ़त बना ली है. अब उसकी नजरें इस मैच मे जीत हासिल करते हुए सीरीज अपने नाम करने पर होगी. वहीं भारतीय टीम यह मैच जीतकर सीरीज में बराबरी करने की कोशिश करेगी.

First published: 14 January 2018, 8:40 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी