Home » क्रिकेट » India’s left-arm wrist spinner Kuldeep Yadav says he is not affected by competition for spinners in the ODI side.
 

इंडिया के चाइनामैन गेंदबाज कुलदीप यादव ने टीम से बाहर रहने पर दिया बड़ा बयान

कैच ब्यूरो | Updated on: 30 August 2017, 13:12 IST

भारत के चाइनामैन गेंदबाज कुलदीप यादव का कहना है कि वह वनडे टीम में जगह बनाने के लिए स्पिन गेंदबाजों के बीच प्रतिस्पर्धा से चिंतित नहीं हैं.  कुलदीप ने कहा कि उन्हें जब मौका मिलेगा वह तब अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन देंगे.

कुलदीप ने श्रीलंका के खिलाफ होने वाले तीसरे मैच से दो दिन पहले आर. प्रेमदासा स्टेडियम में संवाददाता सम्मेलन में कहा, "विकल्पों का होना भारतीय टीम के लिए जरूरी है. मैं इसे सकारात्मक तरीके से लेता हूं. मुझे जब भी मौका मिलेगा मैं अपना सर्वश्रेष्ठ दूंगा."

भारतीय टीम ने पांच मैचों की वनडे सीरीज में 3-0 की अजेय बढ़त ले ली है. टीम में इस समय अक्षर पटेल, युजवेंद्र चहल स्पिन आक्रमण की जिम्मेदारी संभाल रखी है, जबकि देश को दो शीर्ष स्पिन गेंदबाज रविचंद्रन अश्विन और रवींद्र जडेजा को इस सीरीज के लिए आराम दिया गया है.

कुलदीप से जब टेस्ट से वनडे में आने के बारे में पूछा गया तो उन्होंने कहा, "लाल गेंद से सफेद गेंद में काफी कुछ बदल जाता है. बल्लेबाज वनडे में ज्यादा आक्रामक होते हैं. टेस्ट में आपको विकेट के लिए काफी मेहनत करनी पड़ती है. वनडे अलग होते हैं क्योंकि आपके पास सीमित समय होता है."

उन्होंने कहा, "मैं रन रोकने की कोशिश नहीं करता, मैं हमेशा विकेट लेने के लिए जाता हूं. इससे टीम को भी मदद मिलती है." कुलदीप का मानना है कि "गेंदबाजों को विकेट लेने की आदत होनी चाहिए रन रोकने की नहीं. मैं सरल तरीके से सोचता हूं कि विकेट लेना गेंदबाज की आदत होनी चाहिए. अगर आप ऐसा नहीं करते हैं तो आप साधारण गेंदबाज हैं."

भारतीय टीम के पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धौनी  के बारे में कुलदीप का कहना है कि भारत के विश्व विजेता कप्तान महेंद्र सिंह धौनी के साथ ड्रेसिंग रूम साझा करना उनके सपने का सच होना है. उन्होंने कहा कि धौनी विकेट के पीछे से सबसे अच्छे जज हैं.

उन्होंने आगे  कहा, "धौनी के साथ ड्रेसिंग रूम साझा करने को लेकर मेरे पास शब्द नहीं हैं. पिछले छह महीनों से मैं माही भाई (धौनी) के साथ हूं. मैंने उनसे काफी कुछ सीखा है, वह विकेट के पीछे से आपको सबसे अच्छी तरह समझ सकते हैं. मैं खुश किस्मत हूं कि मैं उनके 300वें वनडे मैच में उनके साथ रहूंगा."

First published: 30 August 2017, 13:12 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी