Home » क्रिकेट » india vs aus u19 world cup final the title battle begins australia won the toss and elected to bat, grand finale of u19 world cup, ind vs au
 

IND Vs AUS U19 Final LIVE: ग्रैंड फिनाले शुरू, ऑस्ट्रेलिया ने गंवाए चार विकेट

कैच ब्यूरो | Updated on: 3 February 2018, 8:58 IST

न्यूजीलैंड में चल रहे अंडर-19 विश्व कप का ग्रैंड फिनाले शुरू हो चुका है. भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच होने वाले इस फाइनल में ऑस्ट्रेलिया ने टॉस जीत पहले बल्लेबाजी करने का फैसला किया है. ताजा समाचार लिखे जाने तक ऑस्ट्रेलियन टीम ने 30 ओवर में 142 रन पर चार विकेट गंवा दिए हैं. मरलो 54 गेदों पर 46 रन बनाकर खेल रहे हैं उनके साथ मैक्स्वीनी 5 गेंद पर 2 रन बनाकर क्रीज पर हैं.

टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करने उतरी ऑस्ट्रेलियन टीम की शुरुआत अच्छी रही. लेकिन तेजी से रन बनाने के चक्कर में ऑस्ट्रेलिया ने 32 रन पर अपना पहला विकेट गंवाया. पारी का पहला ओवर शिवम मावी ने फेंका जिसमें वाइड के रूप में एक रन बना. पारी के दूसरे ओवर में ब्रायंट ने ईशान पोरेल को चौका लगाया. पारी के पांचवें ओवर में जैक एडवर्ड्स ने शिवम मावी को तीन चौके जमाए. इस ओवर में 12 रन बने.

 

पारी के छठे ओवर की पहली ही गेंद पर ईशान पोरेल ने मैक्‍स ब्रायंट (14) को अभिषेक शर्मा से कैच कराकर पेवेलियन लौटा दिया. पारी के सातवें ओवर में मावी को एडवर्ड्स ने दो चौके जमाए. यह ओवर भी महंगा रहा और इसमें 11 रन बने. ऑस्‍ट्रेलिया की रन गति तेजी से बढ़ रही थी. ऐसे में पारी के 10वें ओवर में ईशान पोरेल एक बार फिर भारतीय टीम के लिए राहत बनकर आए.

उन्‍होंने तेज बैटिंग कर रहे जैक एडवर्ड्स (28, 29 गेंद, पांच चौके) को कमलेश नागरकोटी से कैच करा दिया. 11वें ओवर में स्पिनर शिवा सिंह गेंदबाजी के लिए लाए गए. इनके ओवर की चौथी गेंद पर मर्लो का कैच विकेटकीपर हार्विक देसाई से छूटा. पारी के 12वें ओवर में ऑस्‍ट्रेलिया के कप्‍तान जेसन सांघा (13) को तेज गेंदबाज कमलेश नागरकोटी ने पेवेलियन लौटा दिया. कमलेश ने अपने पहले ओवर की चौथी ही गेंद पर यह विकेट लिया. कैच विकेटकीपर हार्विक देसाई ने लपका. ऑस्‍ट्रेलिया का तीसरा विकेट 59 के स्‍कोर पर गिरा.

 

गौरतलब है कि करोड़ों हिंदुस्तानी क्रिकेट प्रेमियों की नजरें इस मुकाबले पर लगी हुई हैं. यह भारत का छठा वर्ल्डकप फाइनल है. फाइनल में भारतीय टीम की नजरें चौथा खिताब जीतकर इतिहास रचने पर टिकी हुई हैं. इससे पहले भारत ने मोहम्मद कैफ ( 2002 ), विराट कोहली (2008) और उन्मुक्त चंद ( 2012 ) की अगुवाई में जूनियर वर्ल्‍डकप जीता था.

इसके पहले भारत तीनों लीग मैच जीतकर नॉकआउट राउंड में पहुंचा था. भारत ने क्वार्टरफाइनल में बांग्लादेश और फिर पाकिस्तान को सेमीफाइनल में बुरी तरह पीटकर फाइनल में जगह बनाई थी. टीम इंडिया ने इस टूर्नामेंट में पहले ही मैच से किसी चैंपियन की तरह प्रतिद्वंद्वियों पर किसी भूखे भेड़िये की तरह टूटी. चाहे गेंदबाज हों या बल्लेबाज या फिर क्षेत्ररक्षण, सभी ने हर विभाग में गहरी छाप छोड़ते हुए नए मानक स्थापित किए.

First published: 3 February 2018, 8:58 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी