Home » क्रिकेट » india vs australia; chahal says: he want to change to his bowling pace
 

मेलबर्न में इतिहास रचने के बाद चहल ने खोला अपनी सफलता का राज, बताया-किस वजह हुए सफल

कैच ब्यूरो | Updated on: 19 January 2019, 9:11 IST

टीम इंडिया ने ऑस्ट्रेलिया को तीसरे वनडे मैच में ऑस्ट्रेलिया को 7 विकेट से हरा दिया है.टीम इंडिया की इस जीत में सबसे बड़ा योगदान चहल का रहा. उन्होंने इस मैच में 6 विकेट हासिल किये थे.उनकी गेंदबाज़ी की वजह से ही कोई भी ऑस्ट्रेलिया का बल्लेबाज़ कुछ ख़ास नहीं कर सका.

आस्ट्रेलिया के खिलाफ तीसरे वनडे मैच में छह विकेट लेकर भारत की ऐतिहासिक जीत में अहम भूमिका निभाने वाले लेग स्पिनर युजवेंद्र चहल ने कहा है कि उन्होंने इस मैच में अपनी गेंदबाजी का लुत्फ उठाया. चहल की गेंदबाजी के दम पर भारत ने आस्ट्रेलिया को 230 रनों पर ढेर कर दिया और फिर सिर्फ तीन विकेट खोकर लक्ष्य हासिल कर तीन मैचों की वनडे सीरीज 2-1 से अपने नाम की. यह भारत की आस्ट्रेलिया में पहली द्विपक्षीय वनडे सीरीज जीत है.

मैच के बाद चहल ने कहा, "यह मेरा आस्ट्रेलिया में पहला मैच था. विकेट पर गेंद स्पिन ले रही थी और मैं अपने खेल का लुत्फ उठा रहा था. मेरी कोशिश धीमी गेंदबाजी करने और अपनी गति में परिवर्तन करते रहने की थी. विश्व कप से पहले हमारे सामने न्यूजीलैंड की बड़ी सीरीज है. मैं उसके लिए तैयार हूं."

चहल ने इस मैच में इतिहास भी अपने नाम किया है. चहल आस्ट्रेलियाई जमीन पर एक वनडे मैच में छह विकेट लेने वाले पहले स्पिनर और दूसरे भारतीय बन गए हैं उनसे पहले भारत के ही तेज गेंदबाज अजित आगरकर ने इसी मैदान पर 2004 में छह विकेट लिए थे. 

(एजेंसी इनपुट के साथ)

First published: 19 January 2019, 9:11 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी