Home » क्रिकेट » India Vs Australia Dharmshala Test Fourth Day Update: India Need 106 Run To Win This Match
 

सिर्फ़ 87 रन और...फिर बॉर्डर-गावस्कर ट्रॉफी चूमेगी टीम इंडिया

कैच ब्यूरो | Updated on: 27 March 2017, 17:05 IST

भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच धर्मशाला में खेला जा रहा बॉर्डर-गावस्कर ट्रॉफी का चौथा और आखिरी टेस्ट भारत के पाले में गिरता नजर आ रहा है. मैच के तीसरे दिन का खेल खत्म होने तक भारतीय टीम मैच के साथ-साथ सीरीज़ जीत की ओर तेज़ी से बढ़ती दिख रही है. 

तीसरे दिन स्टंप्स तक टीम इंडिया ने बिना किसी नुकसान के 19 रन बना लिए हैं. इसके साथ ही अब सीरीज़ जीतने के लिए भारत को 87 और रन की ज़रूरत है. केएल राहुल 13 और मुरली विजय 6 रन बनाकर क्रीज पर डटे हुए हैं. वहीं ऑस्ट्रेलिया की पूरी टीम अपनी दूसरी पारी में महज 137 रनों पर सिमट गई. अब दूसरी पारी में जीत के लिए टीम इंडिया को 106 रनों का लक्ष्य मिला है.

ऑस्ट्रेलिया की तरफ से हैज़लवुड आउट होने वाले आखिरी बल्लेबाज रहे. दूसरी पारी में शुरू से ही भारतीय गेंदबाजों का दबदबा रहा. ऑस्ट्रेलिया के तरफ से मैक्सवेल ने सर्वाधिक 45 रन बनाये. कंगारू बल्लेबाजों की नाकामी का आलम ये रहा की उनके टीम के छह खिलाड़ी दहाई का आंकड़ा भी नहीं छू पाए.

जडेजा, अश्विन और उमेश को 3-3 विकेट

भारत की ओर से जडेजा, अश्विन और उमेश यादव ने 3-3 विकेट लिए. वहीं एक विकेट भुवनेश्वर कुमार की झोली में आया. उन्होंने कंगारू कप्तान स्टीव स्मिथ को क्लीन बोल्ड करते हुए मैच पर भारत की पकड़ मजबूत कर दी. पहली पारी में अपनी करिश्माई गेंदों से कंगारुओं को फंसाने वाले कुलदीप दूसरी पारी में कुछ खास नहीं कर सके. कुलदीप ने केवल 5 ओवर की ही गेंदबाजी की. वहीं पहली पारी में उन्होंने चार विकेट हासिल किए थे.

चार टेस्ट मैचों की इस सीरीज में दोनों टीमें अभी 1-1 की बराबरी पर हैं. इससे पहले ऑस्ट्रेलिया के पहली पारी के 300 रनों के जवाब में टीम इंडिया अपनी पहली पारी में 332 रन बनाकर ऑल आउट हो गई थी. इसके साथ ही टीम इंडिया ने पहली पारी के आधार पर 32 रन की अहम बढ़त हासिल कर ली थी.

रवींद्र जडेजा ने भारत की तरफ से सबसे ज्यादा 63 रन बनाए. उनके और रिद्धिमान साहा के बीच सातवें विकेट के लिए 96 रनों की बेहद अहम साझेदारी हुई. अभी बॉर्डर-गावस्कर ट्रॉफी पर ऑस्ट्रेलिया का कब्जा है. टेस्ट ड्रॉ होने की सूरत में ट्रॉफी उसके पार बरकरार रहती. लेकिन अब टेस्ट का ड्रॉ होना नामुमकिन दिख रहा है. वहीं कम स्कोर के चलते भारत को लक्ष्य हासिल करने में खास दिक्कत नहीं आनी चाहिए.

First published: 27 March 2017, 16:55 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी