Home » क्रिकेट » india vs australia: fromer captain michael clarke advises australian team not to leave aggression during test series against team india
 

पहले टेस्ट मैच से पहले शुरू हुआ ऑस्ट्रेलिया का 'डर्टी गेम', जीत के लिए करेंगे ये गलत काम

कैच ब्यूरो | Updated on: 28 November 2018, 10:18 IST

भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच 6 दिसंबर से टेस्ट सिरीज खेलनी जानी है. इस सिरीज को लेकर ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ियों के बीच माइंडगेम्स शुरू हो गए है. इसी कड़ी में अब ऑस्ट्रेलिया के पूर्व कप्तान माइकल क्लार्क भी जुड़ गए है. उनका मानना है कि इस समय ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ियों को एक बार फिर से आक्रामक होकर खेलना होगा. इससे ही ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ी बेहतर होकर प्रदर्शन करते है.

आक्रामकता को लेकर बात करते हुए क्लार्क ने कहा कि इस समय ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ियों को पसंदीदा खिलाड़ी बनाने की कोशिश छोड़ देनी चाहिए. इस समय खिलाड़ियों को टफ क्रिकेट खेलना चाहिए, जिसे कोई पसंद करें या नहीं. ये हमारा अंदाज़ है. आगे बोलते हुए उन्होंने कहा कि अगर हम आक्रामक होकर क्रिकेट खेलना छोड़ देंगे तो शायद हम सबके पसंदीदा बन जाएंगे, लेकिन इस समय खिलाड़ी जीतना चाहते हैं.

यह भी पढ़ें: ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ टेस्ट सिरीज से पहले इशांत शर्मा ने टीम को दिया जीत का मंत्र, कही ये बड़ी बात

डेविड वार्नर का  उदाहरण देते हुए उन्होंने कहा कि ऑस्ट्रेलिया खिलाड़ी हमेशा से ही आखों में आखें डालकर बात करना पसंद करते है. इसी वजह से मैं हर बार डेविड वार्नर को अपनी टीम में चाहूंगा. वो अपनी आक्रमकता की वजह से ही अपने खेल में बेहतर हुए है.इसके साथ ही मैं यह कहना चाहूंगा कि एक सीमा भी है और वे इसे समझते है. हमारी इस सीमा को लेकर कई बार आपस में बातचीत हुई है और वे उसे नहीं लांघ सकते.

यह भी पढ़ें: मिताली राज का बड़ा आरोप- मेरा करियर बर्बाद करना चाहते हैं कोच रमेश पवार, अपमानित किया

आप को बता दें कि क्रिकेट पंडितों का मानना है कि डेविड वार्नर और स्टीव स्मिथ के न होने की वजह से ऑस्ट्रेलिया टीम काफी ज्यादा कमजोर है. ऐसे में टीम इंडिया के पास पहली बार सिरीज जीतने का मौका है.

 

First published: 28 November 2018, 10:14 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी