Home » क्रिकेट » India vs England: Virat Kohli disappointed over defeat Birmingham Test againts england, says Century now has no meaning
 

कोहली को इंग्लैंड के खिलाफ शतक मारने का है अफसोस, जानें वजह

कैच ब्यूरो | Updated on: 5 August 2018, 12:29 IST
(file photo )

एजबेस्टन में खेले गए पहले टेस्ट मैच में भारत को इंग्लैंड के खिलाफ नजदीकी हार का सामना करना पड़ा है. इस टेस्ट मैच में कप्तान विराट कोहली को छोड़कर भारत का अन्य कोई बल्लेबाज क्रीज पर इंग्लिश गेंदबाजी के सामने टिकने का साहस नहीं दिखा सका. जिसका खामियाजा भारत को 31 रनों की हार के रूप में सहना पड़ा है. हालांकि कप्तान विराट कोहली भारतीय पारी में अकेले ऐसे योद्धा रहे, जिन्होंने भारत को न केवल मैच में बनाए रखा, बल्कि जीत की दहलीज तक पहुंचाने की भरपूर कोशिश की. कोहली ने इस मैच में 149 और 51 रनों की पारी खेली. अपने इस उम्दा प्रदर्शन के बाद भी भारत की हार से कप्तान कोहली निराश हैं.

मैच के बाद विराट कोहली ने कहा कि इंग्लैंड में उनका पहला शतक 'व्यापक रूप में देखने पर मायने नहीं रखता', क्योंकि पहले टेस्ट मैच में टीम की 31 रन से हार के कारण उनकी निजी उपलब्धि फीकी पड़ गई. 149 रनों की उनकी शतकीय पारी को लेकर पूछे गए सवाल के जवाब में कोहली ने कहा, 'जब आपका ध्यान बड़ी तस्वीर पर हो तब ये चीजें मायने नहीं रखती है.'

कोहली ने आगे कहा कि 'पहले मैं अलग परिस्थितियों, विभिन्न देशों में खेलने के बारे में सोचता था लेकिन जब आप कप्तान बन जाते हो तो फिर आप अपनी टीम को जीत दिलाने के बारे में सोचते हो.' मेरा मानना है कि यह शानदार मैच था. इस तरह के रोमांचक टेस्ट मैच का हिस्सा बनने पर खुश हूं. मैच में कई अवसर ऐसे आए जब हमने जज्बा दिखाते हुए वापसी की. लेकिन इंग्लैंड ने हमको एक एक रन के लिए संघर्ष करने पर मजबूर किया. इससे हमको अहसास हो गया कि सिरीज में आगे क्या करना है.

गौरतलब है कि विराट कोहली ने पहली पारी में 149 रनों की संघर्षपूर्ण पारी खेल भारत को मैच में वापसी कराई थी. एक समय भारतीय टीम पहली पारी में इंग्लैंड से कम से कम 100 रनों से पिछड़ने की कगार पर थी. लेकिन कोहली ने अकेले के दम पर टीम को इंग्लैंड के स्कोर के करीब पहुंचा दिया. इसके बाद दूसरी पारी में भी एक छोर से विकेट गिरते रहे, जबकि कोहली दूसरे छोर पर संघर्ष कर रहे थे. उन्होंने 51 रनों की पारी खेल टीम को जीत दिलाने की भरपूर कोशिश की. लेकिन उनको अच्छा साथ नहीं मिला.

ये भी पढ़ें- India Vs England: विराट कोहली ने तोड़ दिया सचिन-द्रविड़ का ये रिकॉर्ड, बने नंबर 1

First published: 5 August 2018, 12:29 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी