Home » क्रिकेट » india vs west indies: prithvi shaw dedicates debut test century to his father
 

डेब्यू मैच में शतक लगाने के बाद पिता को लेकर भावुक हुए पृथ्‍वी शॉ, कही ये बड़ी बात

कैच ब्यूरो | Updated on: 5 October 2018, 8:22 IST

मुंबई के वंडर बॉय पृथ्वी शॉ ने अपने डेब्यू मैच में ही शानदार शतक लगाया. इस दौरान वेस्टइंडीज के खिलाफ उन्होंने 134 रन की पारी खेली. इस रिकॉर्ड पारी के बाद शॉ ने कई बड़े रिकॉर्ड तोड़ दिए है. इस शतक के बाद उन्होंने अपने पिता के नाम एक भावुक सन्देश दिया है. उन्होंने इस शतक को अपने पिता को समर्पित किया है

अपने डेब्यू को लेकर बात करते हुए शॉ ने कहा कि यह कप्तान और कोच का फैसला था. मैं इंग्लैंड में भी तैयार था लेकिन आखिर में मुझे यहां मौका मिला. आगे बोलते हुए उन्होंने कहा कि लेकिन इंग्लैंड में अनुभव शानदार रहा. मैं टीम में सहज महसूस कर रहा था. विराट भाई ने कहा कि टीम में कोई सीनियर या जूनियर नहीं होता है. पांच साल से भी अधिक समय से अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट खेल रहे खिलाड़ियों के साथ ड्रेसिंग रूम में साथ में रहना बहुत अच्छा अहसास है. अब सभी दोस्त हैं.

अपने बलबाज़ी को बात करते हुए शॉ ने कहा मैं जब भी क्रीज पर उतरता हूं तो गेंद के हिसाब से उसे खेलने की कोशिश करता हूं और इस मैच में भी मैं इसी मानसिकता के साथ खेलने के लिये उतरा. मैंने यह सोचकर कि यह मेरा पहला टेस्ट मैच है कुछ भी नया करने की कोशिश नहीं की. मैंने उसी तरह का खेल खेला जैसे मैं भारत ए और घरेलू क्रिकेट में खेलता रहा हूं.

अपने पिता को शतक समर्पित करते हुए शॉ ने कहा कि मैंने कभी नहीं सोचा था मुझे अंडर-19 विश्व कप में जीत के बाद भारत से डेब्‍यू का मौका मिल जाएगा. मैं मैच दर मैच आगे बढ़ा और आखिर में आज मैंने डेब्‍यू किया. मैं इस पारी को अपने पिताजी को समर्पित करता हूं. उन्होंने मेरे लिये काफी बलिदान किये.

आगे बोलतेव हुए उन्होंने कहा मैं अपने डैड के बारे में सोच रहा था और उन्होंने मेरे लिये काफी बलिदान किये. जब मैं शतक बनाता हूं तो उनके बारे में सोचता हूं और यह मेरा पहला टेस्ट शतक है और यह पूरी तरह से उन्हें समर्पित है.

First published: 5 October 2018, 8:22 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी