Home » क्रिकेट » Indian Cricket Team Selection Panel head MSK Prasad hit out on Sunil Gavaskar
 

सुनील गावस्कर पर बरसे टीम इंडिया चयन समिति के प्रमुख, बोले- हम पर सवाल उठाने से पहले एक बार..

कैच ब्यूरो | Updated on: 31 July 2019, 14:32 IST

विश्व कप के 12वें संस्करण के बाद से ही टीम इंडिया के सेलेक्शन पैनल की काफी आलोचना हो रही है. गौतम गंभीर,सुनील गावस्कर समेत कई दिग्गद खिलाड़ियों ने चयन समिति को निराने पर लेते हुए कहा था कि जिन लोगों का अनुभव कम है उनक हाथ में भारतीय क्रिकेट का भविष्य है.

दरअसल, यह सारा विवाद रायडू को लेकर चालू हुआ था. विश्व कप के पहले रायडू को टीम में बतौर नंबर चार के बल्लेबाज के तौर पर खिलाया गया था लेकिन उन्हें विश्व कप टीम में जगह नहीं दी गई. वहीं जब शिखर धवन और उनके बाद विजय शंकर चोटिल हुए तब भी उन्हें टीम में शामिल नहीं किया गया. लगातार हो रही अपेक्षा के कारण रायडू ने अंत में संन्यास का ऐलान कर दिया. इसके बाद गौतम गंभीर ने चयनसमिति पर निशाना साधते हुए कहा था कि चयन समिति के सभी लोगों ने जितने मुकाबले खेले है उससे कहीं ज्यादा मैच रायडू ने खेले है ऐसे में उन्हें मजबूर होकर संन्यास लेना पड़ा.


वहीं बीते सोमवार को ही सुनील गावस्कर ने मिड डे में लिखे अपने कॉलम में चयनसमिति पर निशाना साधते हुए कहा था कि चयन समिति ने विराट कोहली की बिना किसी मीटिंग के कप्तान बनाया था.

वहीं अब चयन समिति के प्रमुख एस के प्रसाद ने अपने एक इंटरव्यू में कहा कि,'मैं आपको बता दूं कि चयनसमिति में शामिल सभी सदस्यों ने विभिन्न प्रारूपों में भारतीय टीम का प्रतिनिधित्व किया है जो हमारी नियुक्ति के समय बुनियादी मानदंड था. अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट के अलावा हमने प्रथम श्रेणी के 477 मैच खेले हैं. अपने कार्यकाल के दौरान हम सबने मिलकर 200 से ज्यादा प्रथम श्रेणी मैच देखे हैं.’ क्या ये आंकड़े देखने के बाद आपको नहीं लगता कि एक खिलाड़ी और चयनकर्ता के तौर पर हम सही कौशल को पहचानने की क्षमता रखते हैं?'

साथ ही उन्होंने लगातार कम मैच खलने के आरोपों पर बोलते हुए कहा कि,'अगर कोई हमारे कद और अंतरराष्ट्रीय अनुभव पर सवाल उठा रहा तो उसे इंग्लैंड एवं वेल्स क्रिकेट बोर्ड के मौजूद चयन समिति के अध्यक्ष एड स्मिथ को देखना चाहिए जिन्होंने सिर्फ एक टेस्ट मैच खेला है. क्रिकेट आस्ट्रेलिया के मुख्य चयनकर्ता ट्रेवोर होन्स ने सिर्फ सात टेस्ट मैच खेले हैं और वह बीच में दो साल को छोड़कर पिछले डेढ दशक से मुख्य चयनकर्ता है. जब उन देशों में कद और अंतरराष्ट्रीय अनुभव मुद्दा नहीं है तो तो हमारे देश में यह कैसे होगा?'

इंग्लैंड की जर्सी पहनकर टेस्ट क्रिकेट खेलन चाहता है ये पाकिस्तानी गेंदबाज!

First published: 30 July 2019, 19:12 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी