Home » क्रिकेट » Indian cricketer Kamal Kaniyal hits century on debut Ranji match after cancer
 

युवराज सिंह की तरह इस भारतीय ओपनर को हुआ था कैंसर, वापस आकर डेब्यू मैच में ठोका शानदार शतक

कैच ब्यूरो | Updated on: 14 February 2020, 17:17 IST

भारतीय क्रिकेट टीम(Indian Cricket Team) के शानदार बल्लेबाज और वर्ल्डकप 2011(World Cup 2011) के मैन ऑफ द टूर्नामेंट युवराज सिंह(Yuvraj Singh) ने कैंसर(Cancer) के बाद शानदार वापसी की थी. अब एक और भारतीय ओपनर ने कैंसर से जंग जीतकर शानदार वापसी की है. खास बात यह है कि उसने न सिर्फ कैंसर से जंग जीतकर वापसी की है बल्कि डेब्यू मैच में ही शानदार सैकड़ा जड़ दिया है. 

इस भारतीय खिलाड़ी का नाम कमल सिंह कनियाल (Kamal Singh Kaniyal) है. कमल सिंह कनियाल को मात्र 15 साल की उम्र में ब्लड कैंसर हो गया था. इतनी छोटी सी उम्र में सेकेंड स्टेज का कैंसर होने के बाद उनकी जिदंगी अस्पतालों के कमरों तक ही सिमट गई थी. हालांकि उन्होंने हार नहीं मानी.

कमल सिंह कनियाल ने ठीक होने के पूरे तीन साल बाद शानदार वापसी की. वापसी के बाद उन्होंने अपने पहले ही रणजी ट्रॉफी (Ranji Trophy) मैच में शानदार शतक ठोक दिया. उत्तराखंड के इस ओपनर बल्लेबाज ने बृहस्पतिवार को महाराष्ट्र के खिलाफ अपना रणजी ट्रॉफी डेब्यू करते हुए शानदार सैकड़ा जमाया और 101 रनों की पारी खेली.

कमल ने 160 गेंदों की अपनी पारी में 17 चौके जड़े. कमल सिंह ने अपने संघर्ष के दिनों को याद करते हुए बताया कि वह अपने पिता के साथ ब्लड चैकअप के लिए गए थे. उनका प्लेटलेट्स काउंट तेजी से गिर रहा था. इसके बाद डॉक्टर्स ने पिता को सलाह दी थी कि आगे के इलाज के लिए दिल्ली जाएं. तब वह मात्र 15 साल के थे. फिर नोएडा में सारा टेस्ट किया गया.

रिपोर्ट में पता चला कि उन्हें ब्लड कैंसर था. इसके बाद भी उनके पिता ने हार नहीं मानी. परिवार ने उन्हें बीमारी के बारे में ज्यादा कुछ नहीं बताया. वह तब जल्दी-जल्दी बीमार हो जाया करते थे. अस्पताल में बताया गया कि उनके खून में संक्रमण है. हालांकि डॉक्टरों को उन्होंने कहते हुए सुन लिया था कि उन्हें कैंसर है. इसके बाद मेरा इलाज शुरू हुआ और ठीक होकर वह वापस क्रिकेट खेलने लगे. 

दिग्गज क्रिकेटर की मौत से शोक में डूबा पाकिस्तान, PCB अध्यक्ष ने इंतकाल पर जताया गहरा दुख

न्यूजीलैंड के खिलाफ मैच जिताते-जिताते आउट हो जाने वाले नवदीप सैनी ने जो कहा सुनकर रो देंगे आप

No data to display.
First published: 14 February 2020, 17:10 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी