Home » क्रिकेट » Indian Cricketers Who are best but not got chance to lead team
 

भारतीय टीम के वो महान खिलाड़ी जिन्हें कभी नहीं मिला कप्तानी का मौका

कैच ब्यूरो | Updated on: 29 March 2020, 19:21 IST

भारतीय क्रिकेट टीम (India National Cricket Team) के इतिहास में ऐसे कई खिलाड़ी आए हैं जिनके खेल की आज भी चर्चा की जाती है. ऐसा कई बार देखा गया है कि जो खिलाड़ी बेहतर होता है उसे टीम की कमान सौंपी जाती है. लेकिन टीम इंडिया (Team India) के कुछ खिलाड़ी ऐसे भी रहे हैं जो अपने खेल के कारण आज भी याद किए जाते हैं लेकिन उन्हें कभी कप्तानी का मौका नहीं मिला.

युवराज सिंह


टीम इंडिया को साल 2011 में विश्व विेजेता बनाने वाले खिलाड़ी युवराज सिंह (Yuvraj Singh) वनडे फार्मेट के बेहतरीन खिलाड़ियों में से एक है. युवराज सिंह जितना खतरनाक अपने बल्ले से थे उतने ही घातक उनकी गेंदबाजी थी. इतना ही नहीं वो टीम इंडिया के सबसे बेहतरीन फील्डर माने जाते थे. युवराज सिंह का खेल कितना दमदार था, इसका अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि साल 2007 का टी20 विश्व कप और साल 2011 का विश्व कप जिसे टीम इंडिया ने जीता था, इन दोनों टूर्नामेंट में युवराज सिंह मैन ऑफ द सीरीज रहे थे. हालांकि इतने बेहतरीन खिलाड़ी होने के बाद भी युवराज सिंह कभी भी टीम इंडिया के कप्तान नहीं बन पाए.

जहीर खान

भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व तेज गेंदबाज जहीर खान (Zaheer Khan) अपने समय में सर्वश्रेष्ठ तेज गेंदबाजों में से एक रहे हैं. जहीर ने अपनी गेंदबाजी के जरिए भारतीय टीम को कई मुकाबलो में जीत दिलाई है. जहीर खान के गेंदबाजी आंकड़े उनकी काबिलियत दिखाते हैं जहीर खान ने टीम इंडिया के लिए 92 टेस्ट मैचों खेले हैं जिसमें उन्होंने 311 विकेट हासिल किए हैं जबकि 200 वनडे मैचों में उन्होंने 282 विकेट हासिल किए है. जहीर खान ने क्रिकेट के सबसे छोटे फार्मेट में 17 मुकाबले खेले हैं जिसमें उन्होंने इतने ही विकेट हासिल किए है. जहीर खान को आईपीएल में दिल्ली की कप्तानी करने का मौका मिला था लेकिन उन्हें कभी भारतीय टीम की कमान नहीं मिली.

वीवीएस लक्ष्मण

टीम इंडिया के पूर्व मध्यक्रम के बल्लेबाज वीवीएस लक्ष्मण (VVS Laxman) तकनीक के रूप में अपना लोहा मनवा चुके है. टेस्ट क्रिकेट में  तकनिकी रूप से सक्षम उनके जैसा कोई दूसरा बल्लेबाज नहीं है. लक्ष्मण ने टीम इंडिया के लिए 134 अंतरराष्ट्रीय टेस्ट मैचों  45.97 की शानदार औसत से 8781 रन बनाये है. वहीं बात अगर वनडे की करें तो 86 वनडे मैचों में लक्ष्मण ने 30.76 की औसत से 2338 रन बनाये है. लक्ष्मण हमेशा ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ शानदार प्रदर्शन करते थे. हालांकि फिर भी उन्हें कभी भी टीम इंडिया की मान नहीं मिली. 

सचिन तेंदुलकर और विराट कोहली में कौन हैं बेहतर, वसीम जाफर बोले- दंगे करवाएंगे आप

 

First published: 29 March 2020, 18:41 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी