Home » क्रिकेट » IPL 10: After winning the tournament title, Mumbai or Pune (MI or RPS) will lose these in Final match
 

IPL 10: खिताब जीतकर भी इस मामले में हार जाएगी Mumbai या Pune टीम

अमित कुमार बाजपेयी | Updated on: 20 May 2017, 17:03 IST

इंडियन प्रीमियर लीग (IPL) सीजन 2017 का खिताबी मुकाबला अब नजदीक आ गया है और रविवार 21 मई को हैदराबाद में Mumbai Indians और Rising Pune Supergiants के बीच यह खेला जाएगा. यूं तो मुंबई और पुणे में से किसी को इस सीजन का विजेता बनना तय है, लेकिन फिर भी दोनों ही टीमें कुछ मामलों में हार जाएंगी.

दरअसल अगर 2017 की IPL अंक तालिका देखें तो इस वक्त मुंबई इंडियंस की टीम 20 अंकों के साथ नंबर एक पर है. 14 में से 10 मुकाबले जीतने वाली मुंबई की टीम का नेट रन रेन +0.784 है. वहीं, 18 अंकों के साथ दूसरे पायदान पर पहुंची राइजिंग पुणे की टीम 9 मैचों को जीतकर +0.176 नेट रन रन हासिल कर चुकी है.

इन दोनों टीमों के बीच ही रविवार को इस सीजन का खिताबी मुकाबला होगा और इस सीजन के विजेता का नाम सामने आएगा.

लेकिन अगर इस सीजन के सबसे बेहतरीन खिलाड़ियों की बात करें यानी ऑरेंज कैप, पर्पल कैप समेत अन्य रिकॉर्ड अपने नाम करने वालों की, तो इस मामले में यह दोनों ही टीमें जीत नहीं सकेंगी.

सबसे पहले बात करते हैं ऑरेंज कैप की तो इस सूची में सनराइजर्स हैदराबाद के कप्तान डेविड वार्नर 641 रन बनाकर पहले पायदान पर हैं. एक मैच में सर्वाधिक 126 रन बनाने वाले वार्नर का औसत 58.27 का रहा है और उन्होंने 452 गेंदों पर 141.81 के स्ट्राइक रेट से 641 रन बनाए. चार अर्धशतक और एक शतक जड़ने वाले डेविड ने इन 14 मैचों में 63 चौके और 26 छक्के ठोके हैं.

इसके बाद दूसरे पायदान पर कोलकाता टीम के कप्तान गौतम गंभीर (498 रन), तीसरे पर सनराइजर्स हैदराबाद के शिखर धवन (479) और चौथे पर गुजरात लायंस के सुरेश रैना (442) का नाम है. फाइनल में पहुंची पुणे के स्टीव स्मिथ 421 रन के साथ पांचवे स्थान पर हैं और जाहिर है वो फाइनल मैच में इतने रन नहीं बना सकेंगे कि ऑरेंज कैप हासिल कर लें.

अब बात करें पर्पल कैप की तो इस रेस में सबसे आगे सनराइजर्स हैदराबाद के गेंदबाज भुवनेश्वर कुमार हैं. 14 मैचों में 52.2 ओवर फेंकने वाले भुवनेश्वर ने 369 रन देकर सर्वाधिक 26 विकेट झटके हैं. उनका सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन 19 गेंदों पर 5 विकेट रहा और इन्होंने 14.19 के औसत से गेंदबाजी की.

इसके बाद दूसरे पायदान पर राइजिंग पुणे सुपरजायंट के गेंदबाज जयदेव उनादकट का नाम है. केवल 11 मैचों में ही 22 विकेट लेने वाले जयदेव ने शुरुआती तीन मैच नहीं खेले थे. फाइनल मैच में अगर वो शानदार प्रदर्शन करते हैं तो उनके सिर पर पर्पल कैप आने की उम्मीद की जा सकती है.

इतना ही नहीं मैच में सर्वाधिक छक्के, सबसे ज्यादा शतक, औसत या ऐसे ही किसी आंकड़े को हासिल करने में भी फाइनल की दोनों टीमें शामिल नहीं हो सकीं. इसलिए इतना तो तय है कि इन दोनों टीमों में से भले ही जीते कोई भी, फिर भी इन खिताब को हासिल करने में नाकाम रहेगी.

First published: 20 May 2017, 17:03 IST
 
अमित कुमार बाजपेयी @amit_bajpai2000

पत्रकारिता में एक दशक से ज्यादा का अनुभव. ऑनलाइन और ऑफलाइन कारोबार, गैज़ेट वर्ल्ड, डिजिटल टेक्नोलॉजी, ऑटोमोबाइल, एजुकेशन पर पैनी नज़र रखते हैं. ग्रेटर नोएडा में हुई फार्मूला वन रेसिंग को लगातार दो साल कवर किया. एक्सपो मार्ट की शुरुआत से लेकर वहां होने वाली अंतरराष्ट्रीय प्रदर्शनियों-संगोष्ठियों की रिपोर्टिंग.

पिछली कहानी
अगली कहानी