Home » क्रिकेट » IPL 2020 Auction: Franchises keeping an eye on situation in Kolkata amid CAA protests
 

IPL 2020 Auction: CAA के विरोध के बीच कोलकाता में हालात पर नजर बनाए हुए हैं फ्रेंचाइजी

कैच ब्यूरो | Updated on: 16 December 2019, 18:01 IST

जब से केंद्र की सरकार ने संसद से नागरिकता संशोधन अधिनियम (CAA) को पास कराया है तब से ही देश के कई हिस्सों में व्यापक स्तर पर इसका विरोध प्रदर्शन हो रहा है. पूर्व उत्तर राज्यों के बाद नागरिकता संशोधन अधिनियम के बाद हुए प्रदर्शन से पश्चिम बंगाल सबसे ज्यादा प्रभावित राज्यों में से एक है. वहीं कोलकाता में 19 दिसंबर को IPL 2020 के लिए खिलाड़ियों की नीलामी होनी है. ऐसे में राज्य में हो रहे विरोध के कारण आईपीएल फ्रेंचाइजी मालिकों की नजर इस पर बनी हुई है.

19 दिसंबर को कोलकाता में होनी वाली नीलामी में अब 72 घंटों से भी कम का समय बचा हुआ है. इससे पहले आईपीएल फ्रेंचाइजी में से एक के एक वरिष्ठ अधिकारी ने यह स्पष्ट कहा कि फ्रेंचाइजी कोई भी इस स्थिति को जानना चाहेगा क्योंकि राज्य में हिंसक विरोध की खबरें आई हैं.

न्यूज एंजेसी आईएएनएस के मुताबिक, इस अधिकारी ने कहा,'बहुत चिंतित नहीं हैं, लेकिन हां, एक नजर घटनाक्रम पर रखनी होगी. गुरुवार को होने वाली नीलामी और आज से राज्य में हो रही रैलियों के साथ, हमें स्थिति पर नजर रखने की जरूरत है.'

बता दें, पश्चिम बंगाल में हिंसक विरोध प्रदर्शन के बाद रविवार को मालदा, मुर्शिदाबाद, हावड़ा, उत्तर 24 परगना और दक्षिण 24 परगना जिलों के कुछ हिस्सों में इंटरनेट सेवाओं को निलंबित करना पड़ा. जबकि दूसरी तरफ तृणमूल कांग्रेस ने 13 दिसंबर को अपने आधिकारिक अकाउंट पर कहा था कि सीएए के खिलाफ सोमवार को एक मेगा रैली होगी.

तृणमूल कांग्रेस ने ट्विट कर इस बात की जानकारी दी की ,'कोलकाता में 16 दिसंबर को नागरिकता संशोधन अधिनियम 2017 के खिलाफ मेगा रैली होगी. इस रैली की शुरूआत डॉ बीआर अंबेडकर की प्रतिमा के पास से शुरू होगी और जोरांकांको पर समाप्त होगी.'

मीडिया रिपोर्ट की मानें तो, पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ने 20 दिसंबर को पार्टी के वरिष्ठ नेताओं की एक बैठक बुलाई है, जिसमें नागरिकता संशोधन विधेयक (CAB) को संसद के दोनों सदनों से पास होने के बाद आगे की रणनीति बनाने पर चर्चा की जानी है. इस मामले पर एक अन्य फ्रैंचाइज़ी के एक अधिकारी ने कहा कि नीलामी में भाग लेने वाले अधिकांश सदस्य 20 दिसंबर को ही वापस लौटेंगे और मंगलवार को कोलकाता पहुंचेंगे, इसलिए उस स्थिति में इस स्थिति को देखने की जरूरत है.'

इस अधिकारी ने कहा,'देखें, अधिकांश टीमों के मालिक 18 दिसंबर को कोलकाता को पहुंच सकते हैं और 19 दिसंबर को नीलामी के बाद रवाना होंगे जबकि टीम के बाकी सदस्य एक दिन बाद लौटेंगे. उस स्थिति में, स्थिति स्पष्ट रूप से निरंतर अवलोकन की आवश्यकता होगी.'

इस मामले में एक अन्य फ्रैंचाइज़ी ने कहा कि नीलामी के आयोजन स्थल पर सुरक्षा कड़ी करने के लिए बीसीसीआई को कोई अधिकारिक तौर पर अनुरोध नहीं भेजा गया है, अभी 'वेट एंड वॉच' नीति का पालन किया जा रहा है. इस अधिकारी ने हम,'कहा नज़र रख रहे हैं, लेकिन नहीं, हमने नीलामी के आयोजन स्थल पर सुरक्षा कड़ी करने के लिए कोई आधिकारिक अनुरोध नहीं भेजा है.'

एक अन्य फ्रैंचाइज़ी के अधिकारी ने इस मामले पर जानकारी देते हुए कहा,'ईमानदारी से कहूं, हाँ, हम विरोध और सभी घटनाओं पर नज़र रख रहे हैं. लेकिन हमें यह भी पूरा विश्वास है कि बोर्ड यह सुनिश्चित करने के लिए सभी आवश्यक कार्रवाई करेगा कि नीलामी में कोई समस्या न हो. हमारे कुछ लोग कल ही शहर पहुंचेंगे और बीसीसीआई की ओर से किसी भी बदलाव या किसी भी चीज पर कोई बात नहीं की गई है.'

IPL 2020 Auction: दिल्‍ली कैपिटल्‍स के कोच रिकी पोटिंग बोले- पैट कमिंस और क्रिस वॉक्‍स पर लगेगी बड़ी बोली

First published: 16 December 2019, 16:13 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी