Home » क्रिकेट » Ishant Sharma named Australian EX Captain Ricky Ponting best Caoch
 

रवि शास्त्री नहीं बल्कि इस कोच को बेहतर मानते हैं इशांत शर्मा

कैच ब्यूरो | Updated on: 18 May 2020, 23:20 IST
Delhi Capitals

भारतीय क्रिकेट टीम (India National Cricket Team) के हेड कोच रवि शास्त्री (Ravi Shastri) की अगुवाई में टीम इंडिया (Team India) ने कई कीर्तिमान अपने नाम किए है. भले ही टीम इंडिया इस दौरान कोई भी बड़ा आईसीसी टूर्नामेंट जीतने में सफल नहीं हो पाई हो लेकिन टीम ने द्विपक्षीय सीरीज में काफी बेहतरीन प्रदर्शन किया है. रवि शास्त्री के हेड कोच रहते ही टीम इंडिया ऑस्ट्रेलिया में क्रिकेट सीरीज जीतने में सफल हुई थी. लेकिन टीम इंडिया के तेज गेंदबाज इशांत शर्मा (Ishant Sharma) को लगता है कि टीम इंडिया के हेड कोच रवि शास्त्री बेहतर कोच नहीं लगते और इस खिलाड़ी ने ऑस्ट्रेलिया क्रिकेट टीम (Australia Cricket TEam) के पूर्व कप्तान और आईपीएल फ्रेंचाइजी दिल्ली कैपटिल्स (Delhi Capitals) के कोच रिकी पोंटिंग (Ricky Ponting) को बेहतर बताया है.

इशांत शर्मा आईपीएल के हर संस्करण में नजर आए हैं और यह खिलाड़ी कई बार रिकी पोंटिंग के भी खिलाफ खेल चुका है और उन्हें पवेलियन की राह भी दिखा चुका है. रिकी पोंटिंग मौजूदा समय में दिल्ली कैपिटल्स के कोच हैं ऐसे में इशांत को उनका मार्गदर्शन भी मिला रहा है. आइपीएल फ्रेंचाइजी दिल्ली कैपिटल्स के साथ इंस्टाग्राम लाइव पर रिकी पोंटिंग के बारे में बोलते हुए इस खिलाड़ी ने कहा,"मैं जितने भी कोच से मिला हूं, पोंटिंग उसमें बेस्ट हैं. मैं जब पिछले साल आईपीएल में वापसी कर रहा था तो काफी नर्वस था. मैं ऐसा महसूस कर रहा था कि मैं पहली बार खेलने जा रहा हूं, लेकिन उन्होंने मुझे पहले दिन से काफी आत्मविश्वास दिया." उन्होंने आगे कहा,"पोंटिंग ने मुझसे कहा कि तुम सीनियर खिलाड़ी हो और तुम्हें युवा खिलाड़ियों की मदद करनी चाहिए. किसी बारे में चिंता मत करो, तुम मेरी पहली पसंद हो."

गौरतलब है कि कोरोना वायरस के असर के कारण इन दिनों क्रिकेट गतिविधियां रूकी हुई है और माना जा रहा है कि जब क्रिकेट दोबारा शुरू होगा तो भी कोरोना वायरस का असर देखने को मिलेगा और खिलाड़ी गेंद को चमकाने के लिए पसीने और लार का इस्तेमाल नहीं करेंगे. इस पर इशांत शर्मा ने कहा,"हम जानते हैं कि क्रिकेट में बदलाव और नए नियमों पर बात हो रही है लेकिन मेरा मानना है कि क्रिकेटरों को इसके अनुकूल ढलना होगा. लार का इस्तेमाल नहीं करने पर गेंद आपके हिसाब से चमकेगी नहीं लेकिन कुछ और नहीं किया जा सकता. वैसे मैं इन चीजों के बारे में ज्यादा नहीं सोचता. मेरा मानना है कि भविष्य के बारे में ज्यादा सोचे बिना वर्तमान में जीना चाहिए."

संजय मांजरेकर का बड़ा बयान, बोले- 1990 के दशक में टीम सचिन तेंदुलकर पर थी काफी निर्भर

First published: 18 May 2020, 22:51 IST
 
अगली कहानी