Home » क्रिकेट » Jonty Rhodes's Best run out of all time Jonty Rhodes run out of Inzamam-ul-Haq in 1992 world cup
 

Video: आज से 26 साल पहले जोंटी रोड्स ने किया कभी ना भुला पाने वाला रन आउट

विकाश गौड़ | Updated on: 8 March 2018, 14:56 IST

साल 1992 के वर्ल्डकप का 22 वां मैच साउथ अफ्रीका और पाकिस्तान के बीच खेला गया. इस मैच को एक वाकये के लिए हमेशा याद रखा जाएगा. हम आज इस मैच की बात इसलिए कर रहे हैं क्योंकि आज ही के दिन 8 मार्च 1992 को ये मैच ऑस्ट्रेलिया के ब्रिस्बेन में खेला गया था. दरअसल, इस मैच में एक ऐसा रन आउट देखने को मिला जो हमेशा के लिए बेस्ट रन आउट माना गया.

इस मैच में साउथ अफ्रीका ने पहले बल्लेबाजी करते हुए निर्धारित 50 ओवरों में 211 रन बनाए थे. इस पारी में एंड्रयू हडसन ने बतौर ओपनर 54 रन बनाए थे. साउथ अफ्रीका की तरफ से बचा काम लॉअर ऑर्डर में हैंसी क्रोंजे ने किया. बता दें कि क्रोंजे साउथ अफ्रीका के सफलतम कप्तानों में से एक हैं लेकिन फिक्सिंग के कारण वह क्रिकेट से दूर हो गए.

212 रन के लक्ष्य का पीछा करने उतरी पाकिस्तान की पारी के दौरान बारिश होने लगी. ये बारिश ज्यादा तेज तो नहीं थी लेकिन कई बार मैच में बाधा डाल चुकी थी. कहा जा रहा था कि इस मैच का नतीजा डक वर्थ लुईस नियम से निकलेगा. खैर कुछ भी साम दाम दंड भेद से इस मैच को साउथ अफ्रीका को जीतना था.

साउथ अफ्रीका ने इस विश्वकप की शुरूआत भले ही ऑस्ट्रेलिया को 9 विकेट से हराकर बेहतरीन की थी, लेकिन वह अगला मैच न्यूजीलैंड और फिर श्रीलंका से हार गई. इसके बाद वर्ल्डकप में बने रहने के लिए साउथ अफ्रीका ने वेस्टइंडीज को हरा दिया. इसके बाद क्वालीफाई करने के लिए पाकिस्तान को हराना जरूरी था.

 

लेकिन इस मैच में बारिश शुरू हो गई. इस समय 212 रन के लक्ष्य का पीछा कर रही पाकिस्तानी टीम का स्कोर 22 ओवर में 74 रन था. बारिश के कारण डकवर्थ लुईस नियम लागू हुआ और पाकिस्तान को 194 रन का टार्गेट मिला. इस मैच में जोंटी रोड्स के रन आउट ने ऐसा कमाल किया कि साउथ अफ्रीका ये मैच 20 रन से जीत गई. हालांकि वर्ल्डकप फिर भी पाकिस्तान के नाम रहा.

ये भी पढ़ेंः BCCI ने धवन की 1300% और रोहित की 600% सैलरी बढ़ाई, युवराज को बनाया 'जीरो'

पाकिस्तान का स्कोर 135 था इसी दौरान एक गेंद इंजमाम उल हक के पैड पर लगी और पॉइंट की तरफ चली गई. पॉइंट पर तैनात जोंटी रोड्स गेंद पकड़ने के लिए दौड़ पड़े. इस बीच नॉन-स्ट्राइक पर खड़े इमरान खान दो कदम निकले लेकिन रोड्स की फुर्ती देख इंजमाम को मना कर दिया लेकिन इंजमाम ने एक रन लेने का मन बना लिया था. थोड़ा सा क्रीज से निकलर वह रन लेने लगे लेकिन इमरान के मना करने के बाद लौटे जरूर लेकिन देर हो चुकी थी.

 

पांच सेकेंड में गेंद पैड से लगकर रोड्स के पास पहुंची और तेज तर्रार जोंटी ने पांच सेकेंड के अंदर अपना काम कर दिया. जोंटी ने इंजमाम को रन आउट करने के लिए पहले तो सात कदम रखे और फिर हवा में उछल कर विकेट गिरा दिए और इंजमाम आउट हो गए.

ये भी पढ़ेंः ये कारनामा करने वाले दुनिया के तीसरे बल्लेबाज बने गेल, बनाया वर्ल्ड रिकॉर्ड

इस मैच को जीतने के बाद जोंटी ने कहा, “ हमें विकेट की सख्त जरूरत थी मैं अगर गेंद को विकेट पर थ्रो करता तो गेंद के विकेट पर लगने के चांस 50 फीसदी थे. लेकिन अगर मैं गेंद को दौड़कर विकेट पर मारता तो रन आउट के चांस 100 फीसदी थे. लिहाजा मैं 100 फीसदी के साथ गया. मुझे आखिरी के 10 मीटर तेज़ दोड़ना था लेकिन देरी के कारण मैंने छलांग लगाई और विकेट गिरा दिए.”

First published: 8 March 2018, 14:15 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी