Home » क्रिकेट » Jos Buttler unbelievable century secures 5-0 ODI whitewash against Australia by England
 

बटलर के धमाकेदार शतक से ऑस्ट्रेलिया का सूपड़ा-साफ, टूट गए दशकों के रिकॉर्ड

कैच ब्यूरो | Updated on: 25 June 2018, 8:45 IST

इंग्लैंड और ऑस्ट्रेलिया के बीच खेली गई पांच मैचों की वनडे सिरीज का आखिरी मुकाबला रविवार को मैनचेस्टर में खेला गया. इस मुकाबले में इंग्लैंड के विकेटकीपर-बल्लेबाज जॉस बटलर ने संघर्षपूर्ण नाबाद शतक ठोका. बटलर के शानदार शतक की बदौलत इंग्लैंड ने ऑस्ट्रेलिया को एक विकट से हराकर सिरीज में व्हाइटवॉश कर दिया.

टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करने उतरी ऑस्ट्रेलिया टीम को इंग्लैंड के गेंदबाजों ने 34.4 ओवर में 205 के स्कोर पर समेट दिया. इसी के साथ इंग्लैंड को मामूली लक्ष्य मिला लेकिन मेहमान टीम ऑस्ट्रेलिया की घातक गेंदबाजी के आगे इंग्लैंड के बल्लेबाज संघर्ष करते नजर आए. यहां तक कि 50 रन पर 5 विकेट भी चटका दिए.

वहीं, इंग्लैंड की ओर से जोस बटलर ने मध्यक्रम को संभालते हुए 110 रनों की पारी खेल अपनी टीम को जीत दिलाई और मेहमान टीम को 5-0 से हरा दिया. हालांकि इस बीच इंग्लैंड के 9 विकेट गिर गए लेकिन बटलर की सूझबूझ से 48.3 ओवर में इंग्लैंड ने एक विकेट रहते ये लक्ष्य हासिल कर लिया.

बटलर को उनकी दमदार पारी के लिए मैन ऑफ द मैच चुना गया. बटलर ने स्पिन गेंदबाज आदिल रशीद (20) के साथ मिलकर नौवें विकेट के लिए 81 रन जोड़ और अंत में जैक बॉल (1 रन नाबाद) के साथ मिलकर ऑस्ट्रेलिया को सिरीज में एक अदद जीत से महरूम रखा. इसी के साथ ऑस्ट्रेलिया के नाम एक शर्मनाक रिकॉर्ड दर्ज हो गया.

दरअसल, इंग्लैंड ने इससे पहले 5-0 से सूपड़ा-साफ साल 2001 में किया था. जब इंग्लिश टीम के सामने जिम्बावे की टीम थी. इसके बाद अब इसके 17 साल बाद दूसरी बार इंग्लैंड का शिकार कंगारू टीम हुई है. इसके अलावा ऑस्ट्रेलिया इंग्लैंड से 10 मैचों में से 9 मैच हार गई है जो अपने आप में एक रिकॉर्ड है.

साथ ही आपकी जानकारी के लिए बता दें, ऐसा पहली बार है जब इंग्लैंड की टीम एक विकेट से मैच जीती हो. इससे पहले साल 2010 में इंग्लिश टीम ने आखिरी बार ऑस्ट्रेलिया को ही धूल चटाई थी और मैदान भी यही था. इस मुकाबले में 9वें विकेट के लिए हुए साझेदारी का भी एक रिकॉर्ड बना.

हालांकि अभी इंग्लैंड की टीम इस मामले में 81 रनों के साथ दूसरे नंबर पर है. वहीं, पहले नंबर पर श्रीलंका की टीम है, जिसने साल 2010 में ये कारनामा ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ किया था.

First published: 25 June 2018, 8:45 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी