Home » क्रिकेट » mahendra singh dhoni have to change his bat after new rules.
 

अब नहीं चलेगा धोनी का 'बल्ला'

कैच ब्यूरो | Updated on: 19 July 2017, 16:50 IST

महेंद्र सिंह धोनी को दुनिया का शानदार फिनिशर माना जाता है. इस बात को उन्होंने कई बार अपने बल्ले से साबित भी किया है. लेकिन महेंद्र सिंह धोनी को अपने बल्ले को गुड बाय कहना होगा.

मेलबर्न क्रिकेट क्लब (एमसीसी) ने मार्च में जो गाइडलाइंस जारी की थीं, उसके मुताबिक इन क्रिकेटरों के बैट के लिए नए नियम लागू किए गए हैं. अब बल्लेबाजों के बल्ले के निचले हिस्से के किनारों की सीमा 40 एमएम ही होगी. क्रिकेट का ये बदला नियम 1 अक्टूबर से लागू होगा.

दरअसल टीम इंडिया के पूर्व कप्तान एमएस धोनी लंबे समय से 45 एमएम की मोटाई वाले बल्ले से खेल रहे हैं. नए नियमों के अनुसार बल्ले की चौड़ाई 108 एमएम और गहराई 67 एमएम हो सकती है. वहीं एज यानी किनारा 40 एमएम से ज्यादा नहीं हो सकता.

हालांकि इस बदले नियम से भारतीय कप्तान विराट कोहली को कोई परेशानी नहीं होगी. कैप्टन विराट का बैट नए नियमों के अनुसार फिट बैठता है. कोहली के अलावा साउथ अफ्रीका के एबी डि विलियर्स, ऑस्ट्रेलिया के स्टीव स्मिथ और इंग्लैंड के जो रूट के बैट की मोटाई 40 एमएम से कम है.

धोनी के अलावा ऑस्ट्रेलिया के डेविड वॉर्नर, वेस्ट इंडीज के क्रिस गेल और पोलार्ड के बल्ले की मोटाई 50 एमएम से ज्यादा है. इससे उन्हें गेंदबाजों पह हमला बोलने का मौका मिलता है. पोलार्ड ने हालांकि अपना बैट पहले ही बदल लिया है. आईपीएल के दौरान उन्होंने पत्रकारों से कहा था कि अक्टूबर तक रुकने का 'कोई मतलब' नहीं है.

First published: 19 July 2017, 16:50 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी