Home » क्रिकेट » michael holding said i would not see to play jasprit bumrah in england put question on bumrah bowling
 

टेस्ट क्रिकेट खेलने लायक नहीं हैं जसप्रीत बुमराह, इस दिग्गज ने उठाए सवाल

कैच ब्यूरो | Updated on: 30 January 2018, 10:32 IST

जहां एक तरफ क्रिकेट के दिग्गज भारत के तेज गेंदबाज जसप्रीत बुमराह की प्रशंसा करते नहीं थक रहे वहीं वेस्टइंडीज के पूर्व तेज गेंदबाज माइकल होल्डिंग ने जसप्रीत बुमराह के गेंदबाजी टैलेंट को लेकर सवाल उठा दिया है. माइकल होल्डिंग के मुताबिक जसप्रीत बुमराह को इंग्लैंड दौरे पर भारतीय टीम में नहीं शामिल करना चाहिए, वह टीम में खेलने लायक नहीं हैं.

माइकल होल्डिंग ने कहा, "जसप्रीत बुमराह इंग्लैंड में अच्छी गेंदबाजी नहीं कर पाएंगे, वह नई गेंद से वहां की विकेटों पर गेंदबाजी करने लायक नहीं है. नई गेंद का बेहतर इस्तेमाल जसप्रीत बुमराह से बेहतर भुवनेश्वर कुमार कर सकते हैं. उनके पास भले ही रफ्तार ना हो, लेकिन वो नई गेंद का प्रयोग करना बखूबी जानते हैं."

वेस्टइंडीज के पूर्व तेज गेंदबाज ने कहा, "इंग्लैंड की पिच द.अफ्रीका से बिलकुल अलग होंगी. भारतीय कप्तान विराट कोहली को पहले से ही अपनी तेज गेंदबाजी को बेहतर ढंग से तैयार करना होगा. ईशांत शर्मा और मोहम्मद शमी भी वहां के पिचों पर अच्छे गेंदबाज साबित हो सकते हैं.”

 

उन्होंने कहा कि अगर मैं भारतीय टीम का कप्तान होता तो बुमराह को इंग्लैंड दौरे के लिए टीम में शामिल नहीं करता. होल्डिंग के मुताबिक बुमराह आगे गेंद फेंकने में सक्षम नहीं हैं.

होल्डिंग ने कहा, ”दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ टेस्ट सीरीज में जसप्रीत बुमराह ने ज्यादतर गेंदों को नीचे जोर से पटकने का काम किया है. एक तेज गेंदबाज कभी इस तरह की गलती नहीं करना चाहेगा. बुमराह को गेंद को आगे फेंकने की प्रैक्टिस करनी चाहिए. बुमराह की रफ्तार अधिक है, इस वजह से बल्लेबाजों को उनकी पटकी हुई गेंदों को खेलने में परेशानियों को सामना करना पड़ता है.”

वहीं माइकल होल्डिंग ने भुवनेश्वर कुमार, ईशांत शर्मा और मोहम्मद शमी की जमकर तारीफ की. गौरतलब है कि इस सीरीज में अपना टेस्ट डेब्यू करने वाले भारतीय गेंदबाज जसप्रीत बुमराह ने दूसरे मैच में ही टेस्ट करियर का पहला पांच विकेट हासिल किया था. उन्होंने साउथ अफ्रीकी बल्लेबाजों को अपनी धारदार गेंदबाजी से खूब परेशान किया था.

63 वर्षीय माइकल होल्डिंग की आग उगलती गेंदों से 70 और 80 के दशक में अच्छे अच्छे बल्लेबाज कांपते थे. उन्होंने 60 टेस्ट मैचों में ही 249 विकेट अपने नाम कर लिए थे. क्रिकेट से संन्यास के बाद अब वह कमेंटेटर की भूमिका निभाते हैं.

First published: 30 January 2018, 10:28 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी