Home » क्रिकेट » Mohinder Amarnath: Indian batsman needs to watch & learn from Virat Kohli's Footwork
 

भारतीय बल्लेबाजों को इस कप्तान के फुटवर्क से लेनी चाहिए सीख

कैच ब्यूरो | Updated on: 23 January 2018, 20:11 IST

टीम इंडिया के बल्लेबाजों को चाहिए कि वे कप्तान विराट कोहली से सीखें. वे विराट कोहली के फुटवर्क को देखें और उनसे सीखें. यह कहना है टीम इंडिया के पूर्व खिलाड़ी मोहिंदर अमरनाथ का.

टीम इंडिया के पूर्व खिलाड़ी मोहिंदर अमरनाथ ने अपने टेस्ट करियर में 11 शतक जड़े थे, जिनमें से 9 विदेशी धरती पर थे. इस वजह से ही अमरनाथ को 34 में से 18 टेस्ट शतक विदेशी जमीन पर जड़ने वाले सुनील गावस्कर से ज्यादा बेहतर माना जाता है.

उस दौर में तकनीकी और कुशलता ही सबसे जरूरी होती थी क्योंकि इससे ही वे तेज गेंदबाजों को सामना करके रन बंटोर पाते थे, वो भी बाउंसी और तेज गेंदबाजों के लिए ही मुफीद दुनिया की तेज पिचों में. इसके अलावा स्पिन पिचों पर भी उन्होंने अपना सर्वश्रेष्ठ दिया.

स्पोर्ट्स स्टार लाइव वेबसाइट के मुताबिक दक्षिण अफ्रीका में खेली जा रही मौजूदा टेस्ट सिरीज में लड़खड़ाती टीम इंडिया के बारे में पूछे जाने पर मोहिंदर अमरनाथ ने कहा, "तकनीक का कोई विकल्प नहीं है. आपको अपने बेसिक्स के बारे में पुख्ता होना पड़ेगा और इसके साथ ही आत्मविश्वास बढ़ाना होगा."

अमरनाथ ने 'फुटवर्क' को महत्वपूर्ण बताया. वो बोले, "अगर आप गौर से देखें तो हमारे बल्लेबाज खुले सीने से खेलते हैं. जबकि बल्लेबाजी सबसे अच्छी तब होती है जब इसे साइड-ऑन पोजिशन से किया जाए. क्योंकि जब बल्लेबाज खुले सीने (चेस्ट ऑन) से खेलते हैं, तो वे गेंद को स्लिप या फिर विकेटकीपर को देते हैं. गेंद पर प्रतिक्रिया को तेज और पहले होना चाहिए. हमारे बल्लेबाज ज्यादातर इंतजार में रहते हैं जिससे गेंदबाजों को हावी होने का मौका मिल जाता है."

अच्छा फुटवर्क बल्लेबाजों को अपने शॉट्स की योजना बनाने की आजादी देता है. उन्होंने आगे कहा, "आक्रामक गेंदबाजों के आगे आपको भी आक्रामक बल्लेबाजी करनी चाहिए. आप क्रीज पर पहुंचें, उससे पहले ही अपनी पारी की योजना बना लेनी चाहिए. यह योजना सत्र दर सत्र होनी चाहिए न कि पूरे दिन की. आपको पता होना चाहिए कि आपकी क्या भूमिका होने वाली है. अपने शॉट्स खेलने में कोई नुकसान नहीं है. अगर आप हुक और पुल को अच्छी तरह खेल सकते हैं, तो आपको खेलना चाहिए. बल्लेबाजों को स्ट्राइक भी रोटेट करते रहनी चाहिए नहीं तो गेंदबाज अपनी आपको परेशानी में डालने वाली लेंथ पकड़ लेंगे."

घरेलू पिचों से बाहर खेलने के लिए अभ्यास के लिए मिला वक्त मदद करता है, पर सहमति जताते हुए अमरनाथ कहते हैं, "अभी भी कुछ खोया नहीं है. अपने शानदार फुटवर्क के साथ विराट (कोहली), ने बल्लेबाजी करने का तरीका दिखाया है. वो इसलिए आराम से खेल लेते हैं क्योंकि वो गेंद खेलने के लिए अपनी पोजिशन पहले ही ले लेते हैं. आपको अवसर भांपकर अपने शॉट्स खेलने होंगे और लगातार स्ट्राइक बदलते रहनी होगी. बाकी बल्लेबाजों के लिए विराट का फुटवर्क देखना एक काफी अच्छा विचार होगा."

First published: 23 January 2018, 20:11 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी