Home » क्रिकेट » MS Dhoni hints of his retirement by taking the ball at the end of the match against England in Leeds
 

धोनी 2019 वर्ल्डकप से पहले लेगें सन्यास!, टीम इंडिया को लगेगा झटका

कैच ब्यूरो | Updated on: 18 July 2018, 17:57 IST

टीम इंडिया को बतौर कप्तान तमाम ऊंचाईयों पर ले जाने वाले और बतौर विकेटकीपर बल्लेबाज नए आयाम गढ़ने वाले महेंद्र सिंह धोनी कब क्या कर बैठें कोई नहीं जानता. पहले टीम इंडिया की कमान छोड़ दी और फिर टेस्ट क्रिकेट से संन्यास ले लिया जब किसी ने सोचा तक नहीं था कि वो ऐसा करेंगे लेकिन ऐसा उन्होंने किया.

एमएस धोनी की खास बात ये है कि वो कभी भी अपने लिए नहीं खेलते, कभी भी वह आपको ट्रॉफी के साथ फोटो कराते नहीं दिखेंगे. धोनी जब भी मैदान पर होते हैं तो टीम का फायदा देखते हैं. उनकी फिटनेस के तो कहने ही क्या. 37 साल की उम्र में किसी ने ऐसी फुर्ती देखी ही नहीं होगी जिस तरह धोनी विकेट के पीछे दिखाते हैं.

आपको जानकर हैरानी होगी कि जब धोनी अपने टेस्ट करियर के 5000 हजार रन पूरे करने वाले थे और उन्हें इस जादुई आंकड़े को छूने के लिए महज 124 रन की दरकार थी लेकिन उन्होंने कप्तानी तो छोड़ी ही साथ में टेस्ट क्रिकेट से संन्यास भी ले लिया. ऐसा नहीं है कि उनकी परफॉर्मेंस ठीक नहीं थी.

साल 2014 के दिसंबर में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ आखिरी टेस्ट खेलने वाले धोनी का उन दिनों टीम इंडिया में इतनी धाक थी कि कोई उन्हें टीम से बाहर तो क्या उनके कप्तानी पद को भी नहीं छीन सकता था. लेकिन धोनी ने अपनी महानता का परिचय देते हुए टेस्ट क्रिकेट से संन्यास ले लिया. उस वक्त तक धोनी 90 टेस्ट मैच खेल चुके थे.

लेकिन इंग्लैंड के खिलाफ मंगलवार को मिली वनडे सिरीज में 2-1 से हार के बाद धोनी ने फिर शॉर्ट फॉर्मेट से संन्यास के संकेत दिए हैं. ऐसे में माही के फैंस को ही नहीं बल्कि टीम इंडिया को भी झटका लगा है. दरअसल, इंग्लैंड के खिलाफ लीड्स में मैच और सिरीज गंवाने के बाद धोनी ने अंपायर से मैच की आखिरी बॉल ली थी.

इस बात को धोनी के संन्यास के संकेत के तौर पर देखा जा रहा है. हो सकता है कि धोनी अगले साल होने वाले वर्ल्ड कप से संन्यास ले लें. हालांकि, धोनी ने खुद कबूला कि वो वर्ल्ड कप 2019 के लिए एक दम फिट हैं और उन्हें खुद अपने जैसा कोई विकेटकीपर नहीं दिखता.

एमएस धोनी के क्रिकेट करियर की बात करें तो उन्होंने 500 से ज्यादा इंटरनेशनल मैच खेल लिए हैं जिनमें करीब 16,500 रन बनाए हैं, जबकि 780 से ज्यादा बार उन्होंने विकेट के पीछे खिलाड़ियों का शिकार किया है. 90 टेस्ट मैचों में धोनी ने 4876 रन बनाए जिसमें उनका 224 बेस्ट स्कोर है. इसमें 6 शतक एक 1 दोहरा शतक और 33 अर्धशतक शामिल हैं.

इसके अलावा वनडे क्रिकेट में धोनी ने 318 मुकाबलों में 9967 रन बनाए हैं, जिसमें उनका बेस्ट स्कोर 183 रन है. इसमें धोनी के 10 शतक और 67 अर्धशतक शामिल हैं. वहीं, T20 इंटरनेशनल की बात करें तो धोनी ने 92 मुकाबले खेले हैं, जिनमें उन्होंने 1487 रन बनाए हैं. इसमें धोनी का 56 रन बेस्ट स्कोर हैं और T20 में दो फिफ्टी शामिल हैं.

First published: 18 July 2018, 9:09 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी