Home » क्रिकेट » Dhoni: I was waiting for right time waiting for Virat to ease in into test format feel this team has the potential to win in all formats
 

एमएस धोनी: भारत में एक कैप्टन फॉर्मूला फिट, बिखरी कप्तानी में भरोसा नहीं

कैच ब्यूरो | Updated on: 12 February 2017, 11:07 IST
(एएनआई)

वनडे और टी-ट्वेंटी में टीम इंडिया की कप्तानी छोड़ने के बाद महेंद्र सिंह धोनी ने पहली बार खुलकर अपने विचार रखे. पुणे में भारत के सबसे सफल कप्तान ने प्रेस कॉन्फ्रेंस को संबोधित करते हुए कप्तानी से लेकर करियर पर अपनी राय जाहिर की. 

इस दौरान धोनी ने कहा कि भारत में एक कैप्टन का फॉर्मूला चलता है और उनका बिखरी हुई कप्तानी के फॉर्मूले में भरोसा नहीं है. धोनी ने मीडिया से बातचीत में कहा कि क्रिकेट का उनका यह सफर उतार और चढ़ाव से भरा है. मेरी अगली जिम्मेदारी विराट कोहली का सहयोग करने की होगी. 

धोनी ने साथ ही कहा कि मुझे पता है कि बिखरी हुई कप्तानी भारत में काम नहीं करती है इसलिए मैंने कप्तानी छोड़ दी. धोनी ने यह भी भरोसा जताया कि वर्तमान भारतीय टीम ज्यादातर मैच जीत सकती है. गौरतलब है कि भारत और इंग्लैंड के बीच तीन वनडे मैचों की सीरीज का पहला मैच 15 जनवरी को खेला जाएगा.

धोनी के प्रेस कॉन्फ्रेंस की बड़ी बातें

1. पहले वनडे से पहले मैंने विराट कोहली से बात की है. मैं जानना चाहता था कि वह अपने फील्डर्स को कैेसे लगाना चाहते हैं? फील्ड पोजिशनिंग को लेकर हमें ज्यादा सतर्क रहना होगा. 

2. कुल मिलाकर यह एक ऐसा सफर था जिसका मैंने हकीकत में आनंद उठाया. चाहे मुश्किल वक्त हो या अच्छा वक्त इससे मेरे चेहरे पर मुस्कुराहट आ जाती है. 

3. मैं सही वक्त का इंतज़ार कर रहा था. इस बात का इंतजार कर रहा था कि विराट टेस्ट फॉर्मेट में सही तरीके से ढल जाएं.  

4. मुझे लगता है कि इस टीम के पास खेल के हर फॉर्मेट में जीतने की क्षमता है. 

5. भारत में एक कैप्टन फॉर्मूला काम करता है. मुझे पता है कि बिखरी हुई कप्तानी यहां नहीं चल पाती. यह मेरे लिए कप्तानी छोड़ने का सही वक्त था.

First published: 13 January 2017, 1:55 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी