Home » क्रिकेट » MS Dhoni retires: 5 world records the former India captain still holds
 

MS Dhoni Retires: धोनी के वो 5 विश्व रिकॉर्ड जो आज भी हैं उनके नाम, शायद ही तोड़ पाए कोई खिलाड़ी

कैच ब्यूरो | Updated on: 16 August 2020, 10:20 IST

भारतीय क्रिकेट टीम (India National Cricket Team) के पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी (Mahendra Singh Dhoni) ने 15 अगस्त के दिन अपने करोड़ों फैंस को मायूस करते हुए अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट से संन्यास का ऐलान कर दिया है. धोनी ने शानिवार को टी20 और वनडे क्रिकेट से संन्यास का ऐलान किया. बता दें, धोनी साल 2014 में टेस्ट क्रिकेट से संन्यास का ऐलान कर चुके हैं. हालांकि, धोनी आईपीएल खेलना जारी रखेंगे और वो 19 सितंबर से शुरू हो रहे आईपीएल के 12वें संस्करण में चेन्नई सुपर किंग्स की कप्तानी करते हुए नजर आने वाले हैं.

टीम इंडिया (Team India) के पूर्व कप्तान धोनी के संन्यास की चर्चा विश्व कप के बाद से ही शुरू हो गई थी. वहीं धोनी ने जब खुद को टीम से दूर रखा तो माना गया कि वो अब संन्यास का ऐलान कर देंगे. हालांकि, बाद में तस्वीर साफ हुई. इसके बाद कहा गया कि धोनी को टीम इंडिया में वापसी के लिए खुद को साबित करना होगा. माना जा रहा था कि धोनी आईपीएल में अपने प्रदर्शन के जरिए टी20 विश्व कप के लिए चुनी जाने वाली भारतीय टीम में अपनी जगह पक्की कर सकते हैं. लेकिन कोरोना के कारण टी20 विश्व कप को स्थगित कर दिया गया. ऐसे में टीम में उनकी वापसी पर भी संकट के बादल मंडराने लगे थे और आखिर में धोनी ने संन्यास का फैसला लिया. धोनी बतौर कप्तान तो सफल रहे हैं एक बल्लेबाज के रूप में भी उन्होंने अपना लोहा मनवाया था. ऐसे में हम आपको उनके पांच ऐसे रिकॉर्ड के बारे में बता रहे हैं जो आज भी उनके ही नाम हैं.


 

आईसीसी की तीनों चैंपियनशिप जीतने वाले एकलौते कप्तान

महेंद्र सिंह धोनी एकमात्र ऐसे कप्तान हैं जिन्होंने आईसीसी की तीनों चैंपियनशिप अपने नाम की है. धोनी ने पहले साल 2007 में टी20 विश्व कप अपने नाम किया था, फिर साल 2011 में उन्होंने विश्व कप का खिताब जीता और इसके बाद साल 2013 में उन्होंने चैंपियन ट्राफी अपने नाम की. कोई कप्तान आज तक ऐसा नहीं कर पाया है.

बतौर कप्तान सबसे अधिक मैच खेले

धोनी ने बतौर कप्तान सबसे अधिक मुकाबले खेले हैं. उन्होंने कुल 332 अंतर्राष्ट्रीय मैचों में कप्तानी की है. धोनी ने 200 एकदिवसीय, 60 टेस्ट और 72 टी20 मैचों में टीम इंडिया की अगुवाई की है, जो की एक विश्व रिकॉर्ड है. ऑस्ट्रेलिया के रिकी पोंटिंग ने 324 अंतर्राष्ट्रीय मैचों में कप्तानी की है. धोनी एकमात्र ऐसे कप्तान भी हैं, जिन्होंने खेल के तीनों प्रारूपों में 50 से अधिक अंतरराष्ट्रीय मैचों में नेतृत्व किया है.

 

बतौर कप्तान सबसे अधिक फाइनल खेले

धोनी ने भारत को 6 बहु-राष्ट्रीय एकदिवसीय टूर्नामेंट के फाइनल में पहुंचाया है, जिनमें से 4 में भारत ने जीत दर्ज की. इसके कारण वो बहु-राष्ट्रीय एकदिवसीय टूर्नामेंट के फाइनल में जीतने वाले सबसे सफल कप्तान बने. इतना ही नहीं बतौर कप्तान धोनी ने अपने करियर के दौरान कुल 110 वनडे मैच में जीत दर्ज की है, और इस सूची में वो दूसरे नंबर पर हैं. उनके आगे केवल ऑस्ट्रेलिया के पोंटिंग हैं, जिन्होंने 165 वनडे जीते हैं.

सबसे अधिक मैचों में नाबाद रहने का रिकॉर्ड

एमएस धोनी 84 वनडे मैचों में नाबाद रहे हैं, जो एक विश्व रिकॉर्ड है. इस लिस्ट में दूसरे पायदान पर दक्षिण अफ्रीका के पूर्व ऑलराउंडर शॉन पोलक है, जो 72 मैचों में नाबाद रहे हैं. धोनी जिन 84 मैचों में नाबाद रहे हैं, उसमें से 51 पारियां तब आई जब भारत लक्ष्य का पीछा कर रहा था और हैरान कर देने वाली बात है कि इनमें से टीम इंडिया को 47 में जीत मिली जबकि दो मैच टाई हुए थे और 2 बार टीम को हार का सामना करना पड़ा.

विकेट के पीछे सबसे अधिक शिकार

धोनी के नाम अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में सबसे ज्यादा स्टंपिंग करने का रिकॉर्ड भी है. 350 अंतरराष्ट्रीय मैचों में, धोनी के नाम 123 स्टंपिंग हैं. वह अपने करियर में 100 अंतरराष्ट्रीय स्टम्पिंग हासिल करने वाले एकमात्र विकेटकीपर भी हैं.

महेंद्र सिंह धोनी ने लिया बड़ा फैसला, अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट से किया संन्यास का ऐलान

First published: 15 August 2020, 23:00 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी