Home » क्रिकेट » MS Dhoni says how he used to handle the team during the as a captain
 

धोनी ने शेयर किए कप्तानी के अनुभव, टीम को संभालने के लिए करते थे ये काम

कैच ब्यूरो | Updated on: 9 July 2018, 12:10 IST
(File photo)

टीम इंडिया के पूर्व कप्तान एमएस धोनी 37 साल के हो गए है. दो दिन पहले ही उन्होंने अपना 37वां जन्मदिन मनाया. धोनी की गिनती भारत के सबसे सफल कप्तानों में होती है. धोनी की कप्तानी में टीम इंडिया ने आईसीसी के तीनों बड़े (T20 विश्वकप, चैंपियंस ट्रॉफी, विश्वकप) टूर्नामेंट जीते हैं. धोनी को सबसे चतुर खिलाड़ी माना जाता है. मैदान पर धोनी का दिमाग तेजी से चलता है. एमएस धोनी का मानना है कि क्रिकेट में कॉमन सेंस जैसा कुछ नहीं होता .

अपने 37 वें जन्मदिन पर धोनी ने स्टार स्पोर्ट्स के खास शो में एक कप्तान के रूप में अपने अनुभव, उनसे मिले सबक आदि के बारे में खुलकर बात की. उन्होंने बताया कि कप्तानी के दौरान वो खिलाड़ियों के साथ कैसा व्यवहार करते थे. धोनी ने कहा कि कप्तानी के दौरान सबसे बड़ी चुनौती थी कि वह किस तरह खिलाड़ियों के अहं को चोट पहुंचाए बिना उनमें ‘‘ कॉमन सेंस ’’भरे. '' एक कप्तान के रूप में अपने कार्यकाल में मैंने सबसे बड़ी बात यह सीखी कि कई बार मैं सोचता था कि यह कॉमन सेंस है. लेकिन नहीं, कॉमन सेंस जैसी कोई चीज नहीं होती. आपको लगता है , ‘ये बताने की चीज नहीं है, लेकिन टीम के माहौल में आपको बात कहने की जरूरत है.

खिलाड़ियों की प्रतिक्रिया को लेकर धोनी ने कहा कि कुछ लोग ऐसे होंगे जो बुद्धिमान होंगे और वे कहेंगे ‘अरे ये क्या बोल रहा है, ये जरूरत नहीं है . लेकिन ये उनके लिए नहीं होता. वे चीजें समझ सकते हैं. उन्होंने आगे कहा कि यह सब उस इंसान के लिए होता है जो समझता नहीं है. एक इंसान को संबोधित करना बहुत गलत होता है क्योंकि उसे पता होगा कि अच्छा ये तो मुझे ही बोल रहा है. 

ऐसे समय में वह एक सहजता वाले माहौल में समय बिताने की कोशिश करते हैं. ताकि कुछ अनुभव मिल सके. उन्होंने कहा कि आपको खिलाड़ियों की प्रतिक्रिया जानने के लिए पहले करने की जरूरत होती है. अगर वो नहीं बताएगा, तो मैं कैसे जान पाऊंगा कि उसके मन में क्या चल रहा है. उस इंसान को जानने के लिए मुझे उसके साथ समय बिताना चाहिए. उससे बात करनी चाहिए. बिना जाने किसी आप किसी भी खिलाड़ी को सलाह नहीं दे सकते हैं. आपको उस खिलाड़ी के मन में घुसना होता है. उन्होंने कहा कि कप्तानी के दौरान उन्होंने अनुभव किया कि हर सवालों के जवाब देना काफी मुश्किल होता है.

ये भी पढ़ें-Video: जीवा ने गाना गाकर पापा धोनी को किया बर्थडे विश, कहा- आप बूढ़ें हो रहे हो

First published: 9 July 2018, 12:10 IST
 
अगली कहानी