Home » क्रिकेट » Nirdesh Baisoya 10 wickets in an innings Under-16 Vijay Merchant Trophy
 

15 साल के इस गेंदबाज ने हासिल किया बड़ा मुकाम, कर ली अनिल कुंबले के इस रिकॉर्ड की बराबरी

कैच ब्यूरो | Updated on: 7 November 2019, 17:19 IST

मेघालय के ऑफ स्पिनर निर्देश बैसोया ने बुधवार को तेजपुर में नागालैंड के खिलाफ अंडर -16 विजय मर्चेंट ट्रॉफी में एक ऐतिहासिक कारनामा किया है. निर्देश बैसोया ने पारी में सभी 10 बल्लेबाजों को पवेलियन की राह दिखाई है.

मूल रूप से मेरठ के रहने वाले 15 वर्षीय गेंदबाज दो साल पहले एक गेस्ट खिलाड़ी के रूप में मेघालय टीम के साथ जुड़े थे. संजय रस्तोगी ने प्रशिक्षित किया है. बता दें, संजय रस्तोगी ने ही भारत के तेज गेंदबाज भुवनेश्वर कुमार और प्रवीण कुमार को भी प्रशिक्षित किया है.

स्पोर्टस्टार से बात करते हुए उन्होंने कहा,'मैं बचपन से ही रस्तोगी सर के यहां प्रशिक्षण ले रहा हूं और मेरठ के विक्टोरिया पार्क में नियमित रूप से प्रशिक्षण लेता हूं.'

निर्देश बैसोया ने बुधवार को नागालैंड के खिलाफ गेंदबाजी करते हुए 21 ओवरों में 51 रन देकर 10 विकेट हासिल किए है. निर्देश बैसोया की गेंदबाजी के दम पर ही मेघालय इस मुकाबले में नागालैंड को 113 रनों पर आउट करने में सफल रही. वहीं नागालैंड के 113 रनों के जवाब में मेघालय ने दिन का खेल खत्म होने से पहले तक 4 विकेट के नुकसान पर 109 रन बना लिए थे.

इस 15 वर्षीय गेंदबाज ने न्यूज एजेंसी आईएएनएस से बात करते हुए कहा,'मुझे अभी भी विश्वास नहीं हो रहा है. मैं पैदा भी नहीं हुआ था, जब अनिल कुंबले ने 10 विकेट चटकाए थे, लेकिन मैंने उस बारे में बहुत सुना है. मैं हमेशा वैसा कुछ करना चाहता था, लेकिन कभी यह नहीं सोचा था कि यह मेरी जिंदगी में इतनी जल्दी हो जाएगा।.मैंने अभी अपने परिवार से बात की और वे भी भावुक हो उठे.'

किसी भी गेंदबाज का एक पारी में 10 बल्लेबाजों को पवेलियन की राह दिखाना सपना सच होने जैसा है. जिम लेकर और अनिल कुंबले मात्र ऐसे दो गेंदबाज हैं जिन्होंने टेस्ट में यह अद्वितीय उपलब्धि हासिल की है. वहीं घरेलू क्रिकेट में एक पारी में 10 विकेट लेने का कारनामा करने वले देबाशीष मोहंती, सुबाष गुप्ते, प्रदीप सुंदरम और पीएम चटर्जी हैं. जबकि बीते साल मणिपुर के एक रेक्स सिंह ने अंडर -19 टूर्नामेंट कूचबिहार ट्रॉफी में एक पारी में सभी 10 विकेट लिए थे.

गौरलब हो, पूर्व स्पिन गेंदबाज और टीम इंडिया के पूर्व कोच अनिल कुंबले ने 7 फरवरी 1999 को फिरोजशाह कोटला के मैदान पर खेले गए मुकाबले में पाकिस्चान के खिलाफ गेंदबाजी करते हुए टेस्ट मैच में 10 विकेट हासिल करने का बड़ा कारनामा किया था. वहीं उनसे पहले इंग्लैंड के जिम लेकर ने साल 1956 में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ मुकाबले में एक पारी में 10 विकेट हासिल किए थे.

विराट कोहली को ट्विटर पर जमकर किया जा रहा है ट्रोल, जानिए क्या हैं कारण

First published: 7 November 2019, 17:12 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी