Home » क्रिकेट » No Problem With Ravindra Jadeja But Don’t Like Players Like Him In White-Ball Cricket: Sanjay Manjrekar
 

IND vs AUS: संजय मांजरेकर ने रविंद्र जडेजा को लेकर फिर दिया विवादित बयान, कहा - वनडे क्रिकेट में नहीं पसंद

कैच ब्यूरो | Updated on: 28 November 2020, 23:18 IST

भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व खिलाड़ी संजय मांजरेकर अभी टीम इंडिया और ऑस्ट्रेलिया दौरे के बीच हो रहे तीन वनडे मैचों की सीरीज में कमेंट्री कर रहे हैं. मांजरेकर अपने बयानों के लिए जाने जाते हैं और कई बार उनके इन बयानों के कारण काफी विवाद भी होते हैं. विश्व कप के 12वें संस्करण के दौरान जडेजा और मांजरेकर के बीच हुए विवाद को शायद ही कोई क्रिकेट फैन भूला हो. वहीं अब एक बार फिर मांजरेकर ने जडेजा को लेकर ऐसा बयान दिया है, जिसके बाद विवाद शुरू हो गया है.

दरअसल, शुक्रवार को भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच सीरीज का पहला वनडे मुकाबला खेला गया. इस मैच में शिखर धवन के आउट होने के बाद जडेजा बल्लेबाजी के लिए आए थे, तब वीरेंद्र सहवाग और मांजरेकर कमेंट्री कर रहे थे. इस दौरान सहवाग ने मांजरेकर को छेड़ना शुरू कर दिया और वो बार बार मजे लेते हुए जडेजा को मांजरेकर का पंसदीदा खिलाड़ी बता रहे थे. इस पर मांजरेकर ने सहवाग से पूछा कि वो बार बार जडेजा को उनका फेवरेट खिलाड़ी क्यों बता रहे हैं. इसके बाद सहवाग ने मांजरेकर को विश्व कप का लम्हा याद दिलाया. इस दौरान सहवाग ने बताया कि उनके और गंभीर ने कहने पर जडेजा को टीम में जगह मिली थी.


वीरेंद्र सहवाग ने कमेंट्री से दौरान किस्सा सुनाते हुए कहा,"वह चार दिवसीय क्रिकेट (रणजी ट्रॉफी) में तिहरा शतक भी जमा चुके थे और ढेर सारे विकेट भी निकालते थे. तब मैंने और गौतम गंभीर ने एमएस से कहा था कि यह खिलाड़ी आपको टेस्ट मैच प्रतिदिन करीब 25 ओवर बॉलिंग करके भी देगा एक-दो विकेट भी निकालेगा और नंबर 7 कुछ उपयोगी रन भी बनाएगा. जडेजा हमारे तो फेवरेट जरूर हैं."

इसके बाद मांजरेकर ने कहा,"बिल्कुल वह टेस्ट क्रिकेट खेलने के हकदार हैं. लेकिन मैं वनडे क्रिकेट में उन्हें खिलाने के पक्ष में नहीं हूं. मांजरेकर ने अपनी बात साबित करने के लिए आंकड़ों का सहारा लिया. उन्होंने आगे कहा,"आप पिछले 22 वनडे मैचों में उनका परफॉर्मेंस देख लीजिए उनके विकेट भी सिर्फ 18 ही हैं और बैटिंग में भी उन्होंने कोई खास काम नहीं किया है."

मांजरेकर ने आगे कहा,"वह (जडेजा) मेरे भी बहुत फेवरेट रहे हैं. उन्होंने घरेलू क्रिकेट में तिहरे शतक भी जड़े हैं और विकेट भी लिए हैं. लेकिन वनडे क्रिकेट में वह अपनी जगह को जस्टिफाइ नहीं कर पाए हैं. इसलिए मैं मानता हूं कि वह वनडे टीम में खेलने के लिए डिजर्व नहीं करते हैं. टेस्ट टीम में बिल्कुल दावेदार हैं."

IND vs AUS: दूसरे वनडे में वापसी करना चाहेगी टीम इंडिया, ये हो सकती है दोनों टीमों की प्लेइंग इलेवन

First published: 28 November 2020, 23:18 IST
 
अगली कहानी