Home » क्रिकेट » now icc give a punishment on ball tampering minimum ban of six test or 12 odi match
 

बॉल टेंपरिंग: ICC के इस फैसले के बाद अब दोषी खिलाड़ी का करियर हो जाएगा तबाह

कैच ब्यूरो | Updated on: 3 July 2018, 18:58 IST

क्रिकेट में बढ़ रही बॉल टेंपरिंग की घटनाओं को देखते हुए अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (आईसीसी) ने एक बैठक करके इस मामले में एक बड़ा फैसला लिया है. इस बैठक में मुख्य कार्यकारी डेविड रिचर्डसन और पूर्व भारतीय कप्तान अनिल कुंबले भी मौजूद थे. आईसीसी अब आचार सहिंता के उल्लंघन मामले में कड़ी कार्रवाई करेगा और आचार सहिंता में भी बदलाव किया गया है.

बता दें कि ऑस्ट्रेलिया के खिलाड़ी स्टीवन स्मिथ, डेविड वार्नर और कैमरून बेनक्राफ्ट मार्च में दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ बॉल टेंपरिंग में दोषी पाए गए थे. इसके बाद क्रिकेट आस्ट्रेलिया ने बॉल टेंपरिंग मामले में स्मिथ और वार्नर पर एक-एक साल का प्रतिबंध और बेनक्राफ्ट पर नौ माह का प्रतिबंध लगा रखा है.

अभी हाल में भी ऐसी ही मामला हुआ है जो श्रीलंका के कप्तान दिनेश चंडीमल ने किया और उनके उपर एक मैच का प्रतिबंध लगाया गया . इन सब को देखते हुए आईसीसी ने अब लेवल-2 के अपराध को अपग्रेड कर अब लेबल-3 का अपराध कर दिया है. इस अपराध में अब खिलाडियों के उपर छह टेस्ट या 12 वनडे मैचों का बैन लगाया जाएगा. पहले इस मामले में चार टेस्ट या आठ वनडे मैचों का प्रतिबंध लगाया जाता था लेकिन अब इसे बढ़ाकर 12 निलंबन अंक कर दिया गया है . 

ICC

इस मामले में आईसीसी चेयरमैन शशांक मनोहर ने कहा, "मैं और मेरे साथी बोर्ड निदेशक खेल के बेहतर बर्ताव के लिए क्रिकेट समिति और मुख्य कार्यकारियों की समिति के सिफारिशों का समर्थन करने को लेकर सर्वसम्मत थे. यह महत्वपूर्ण है कि खिलाड़ियों और प्रशासकों रोकने के लिए कोई मजबूत कड़े नियम हो, जिससे कि सुनिश्चित हो कि हमारे खेल में आचरण को लेकर शीर्ष स्तर हो."

ये भी पढ़ें: टेस्ट में लारा, वनडे में रोहित और T20 में इस प्लेयर ने बनाया ये ऐतिहासिक रिकॉर्ड

First published: 3 July 2018, 18:58 IST
 
अगली कहानी