Home » क्रिकेट » On The Occasion Of Master Blaster Sachin Tendulkar’s Birthday Watch His One Of The Best Inning Against Australia When He Knocked 134 In Shar
 

शारजाह: जब रेतीला तूफ़ान भी नहीं रोक पाया 'क्रिकेट के भगवान' के तूफ़ान को

कैच ब्यूरो | Updated on: 24 April 2017, 11:33 IST

जब कभी क्रिकेट शब्द कानों को सुनाई देता है, तो उसके साथ एक और नाम जेहन में ख़ुद बखुद गूंजने लगता है. "सचिन-सचिन-सचिन". क्रिकेट के दीवानों के लिए सचिन महज एक नाम नहीं आस्था है. क्रिकेट के दीवाने सचिन से सिर्फ मोहब्बत ही नहीं करते बल्कि इबादत भी करते हैं. भारत रत्न सचिन रमेश तेंदुलकर का जन्म 24 अप्रैल 1973 को हुआ था. 

16 साल की उम्र में पाकिस्तान के खिलाफ कराची में 1989 में अपने अंतरराष्ट्रीय करियर की शुरुआत करने वाले सचिन की वैसे तो हर एक पारी लाजवाब है, मगर आज उनके जन्मदिन के अवसर पर हम उनकी एक ऐसी पारी से आपको रूबरू करा रहे हैं, जिस पारी के बाद ऑस्ट्रेलिया के लेग-स्पिनर शेन वार्न को सचिन के सपने आने लगे थे.

वक्त की सुई को 19 साल पीछे ले चलते हैं. जी हां हम बात कर रहे हैं कोका-कोला कप के फाइनल मैच की जो इंडिया और ऑस्ट्रेलिया के बीच शारजाह में 24 अप्रैल की 1998 को खेला गया था. इस मैच में सचिन की तूफ़ानी पारी की वजह से इंडिया को 9 गेंद शेष रहे 6 विकेट से जीत मिली थी.

इस फाइनल मैच में कंगारुओं ने पहले बल्लेबाजी करते हुए 272 रन बनाये थे और टीम इंडिया को जीत के लिए 273 रनों का लक्ष्य दिया था. टीम इंडिया के लिए सौरभ गांगुली के साथ पारी की शुरुआत करने आये सचिन ने शानदार शतक लगते हुए भारत के जीत की रह आसान कर दी. इस पारी में सचिन ने 12 चौकों और 3 गगनचुम्बी छक्कों की बदौलत 134 रनों की शानदार पारी खेली. इस मैच में सचिन का स्ट्राइक रेट 102.29 था.

सचिन ने अपनी इस पारी के दौरान मैदान के चारो तरफ शॉट लगाते हुए कंगारुओं के पसीने छुड़ा दिए. पारी की शुरुआत करने आये सचिन 45वें ओवर में आउट हुए. कास्प्रोविज ने उनका विकेट लिया, मगर तब तक बहुत देर हो चुकी थी. क्रिकेट के भगवान ने अपना काम कर दिया था और टीम इंडिया एक सुनहरी जीत की ओर बढ़  चुकी थी.

वीडियो में देखें सचिन की पारी की झलकियां

रेतीले तूफ़ान के बीच सचिन का तूफ़ान

इससे ठीक दो दिन पहले 22 अप्रैल 1998 को भी सचिन ने शारजाह के मैदान पर रेतीले तूफ़ान के बीच तूफ़ानी शतक लगाते हुए टीम इंडिया को फ़ाइनल के लिए क्वालीफाई करा दिया था. कोकाकोला कप के अंतिम लीग मैच में कंगारुओं की बखिया उधेड़ते हुए सचिन ने 131 गेंदों में विस्फोटक 142 रन बनाए थे. इस पारी में उन्होंने मैदान के हर कोने में रन बनाए. सचिन ने नौ चौके और पांच गगनचुंबी छक्के जड़े थे. हालांकि सचिन की इस जोरदार पारी के बावजूद भारत ये मैच ऑस्ट्रेलिया से हार गया, लेकिन 284 रनों के जवाब में 254 रन बनाकर उसने फाइनल के लिए क्वालिफाई कर लिया.

First published: 24 April 2017, 11:21 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी