Home » क्रिकेट » On this day in 2012 - When Unmukt Chand emulated Virat Kohli to lead India U-19 to a World Cup victory
 

जिस खिलाड़ी ने भारत को जिताया था वर्ल्ड कप, अब है गुमनाम

कैच ब्यूरो | Updated on: 26 August 2018, 14:25 IST

भारत क्रिकेट के इतिहास में कई ऐसी तारीख है, जिन्हे यादकर आज भी फैंस खुश हो जाते है. कुछ ऐसा ही आज की भी तारीख में है. आज के दिन ही साल 2012 में भारत ने ऑस्ट्रेलिया को अंडर-19 में हरा कर तीसरी बार अंडर-19 वर्ल्ड कप का खिताब अपने नाम किया था.

2008 में विराट कोहली की ने अंडर-19 वर्ल्ड कप का खिताब अपने नाम किया था. फाइनल में भारत की तरफ से टीम के कप्तान उन्मुक्त चंद ने शतक बनाया था. वहीं इस जीत के बाद उन्मुक्त चंद की तुलना की जा रही थी.

इस मैच में चंद ने टॉस जीत कर पहले गेंदबाज़ी करने का फैंसला किया था. इस मैच में संदीप शर्मा यादगार प्रदर्शन किया था. फाइनल मैच में उन्होंने 10 ओवर में 54 रन देकर 4 विकेट हासिल किये थे. इस दौरान उन्होंने दो  मेडेन भी किये थे.उनकी घातक की गेंदबाज़ी की वजह से ऑस्ट्रेलिया की टीम सिर्फ 225 रन ही बना सकी थी.

लक्ष्य का पीछा करते हुए भारत की शुरुआत बेहद ख़राब रही. टीम के सलामी बल्लेबाज़ प्रशांत चोपड़ा डक पर आउट हो गए. उनके आउट होने के बाद बाबा अपराजिता और चंद ने टीम को संभाला। इस दौरान दोनों ने 73 रन की साझेदारी की. बाबा अपराजिता के आउट होने के बाद हनुमा विहारी और विजय ज़ोल जल्द आउट हो गए.

एक समय ऐसा लग रहा था कि भारत ये मैच हार जाएगा. लेकिन इसके बाद समित  पटेल और चंद ने टीम को संभाला. दोनों ने मिलाकर 130 रन की साझेदारी कर के टीम को वर्ल्ड कप में जीत दिला दी. इस दौरान चंद ने शतक लगाया था. इसके साथ ही अंडर-19 के फाइनल में भारत की तरफ से शतक लगाने वाले पहले कप्तान थे. हालांकि बाद वो अपने प्रदर्शन को बरक़रार नहीं रख पाए थे और गुमनामी में खो गए. 

इसके अलावा वो मोहम्मद कैफ और विराट कोहली के बाद भारत की तरफ से तीसरे कप्तान बने थे ,जिन्होंने अंडर-19 वर्ल्ड कप का खिताब अपने नाम किया था. हालांकि बाद में इस क्लब को पृथ्वी शॉ को ज्वाइन कर लिया था.

First published: 26 August 2018, 14:25 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी