Home » क्रिकेट » Pakistan players give four chance to sachin tendulakar in 2011 world cup semifinal in mohali, team india win by 29 runs
 

जब सचिन को मिले 4 जीवनदान ने पाक को 2011 विश्वकप सेमीफाइनल से किया बाहर

हेमराज सिंह चौहान | Updated on: 30 March 2018, 13:50 IST
(File photo)

आज से सात साल पहले आज ही के दिन पाकिस्तान और भारत की टीमें 2011 विश्वकप के सेमीफाइनल में आमने सामने थीं. इससे पहले भारत को पाकिस्तान विश्वकप में आज तक मात नहीं दे पाया था. लेकिन उसके पास भारत को हराकर विश्वकप जीतने का शानदार मौका था. भारत इस विश्वकप की सबसे दमदार टीम ऑस्ट्रेलिया को हराकर सेमीफाइनल में पहुंचा था.

भारत का आत्मविश्वास चरम पर था. वो विश्वकप जीतने से दो कदम दूर था. युवराज पूरे टूर्नामेंट में बल्ले और बॉल दोनों से शानदार प्रदर्शन कर रहे थे. मोहाली में मैच था तो युवराज से पूरे भारत को उम्मीदें होना स्वाभाविक थीं. सचिन तेंदुलकर पाचंवा विश्वकप खेल रहे थे. वो रिकॉर्डों की झड़ी लगा रहे थे. लेकिन उनके खाते में विश्वकप अब तक नहीं था. आज फिर सचिन के पास भी उनके सपने को पूरा करने का शानदार मौका था.

भारत ने चुनी बल्लेबाजी

मोहाली में हुए इस मैच में भारत ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाज़ी करने का फैसला किया. भारत की तरफ से सचिन और सहवाग ने ओपनिंग की. सहवाग ने भारत को तेज शुरुआत दी. हालांकि वो 38 रन बनाकर आउट हो गए. इस मैच में सचिन ने 85 रन बनाए. हालांकि इस दिन किस्मत सचिन के साथ थी. पाक के फील्डरों ने उन्हें चार बार जीवनदान दिया. सचिन के 11 चौकों की मदद से 115 गेंदो में 85 रन बनाए. युवराज सिंह अपने होम ग्राउंड में बिना खाता खोले आउट हुए. 

टीम इंडिया के कप्तान महेंद्र सिंह धोनी और सुरेश रैना ने आखिरी ओवर में उपयोगी पारी खेली. धोनी ने 25 रन और रैना ने 36 रन बनाए. सचिन की पारी की बदौलत टीम इंडिया ने 50 ओवरों में 9 विकेट खोकर 260 रन बनाए. पाक की तरफ से वहाब रियाज ने सर्वाधिक 5 विकेट लिए.

इसके जवाब में मैदान पर उतरी पाकिस्तान की टीम लक्ष्य का पीछा करते हुए 49.5 ओवर में 231 रन पर ऑलआउट हो गई. भारत ने ये मैच 29 रन से अपने नाम किया. भारत इसी के साथ 8 साल बाद वर्ल्डकप के फाइनल में पहुंचा था. इस जीत के बाद भारत ने फ़ाइनल में श्रीलंका को हराकर 28 साल के अंतराल पर वर्ल्ड कप जीतने में कामयाब रहा था. 

पाकिस्तान की तरफ से मिस्बाह उल हक ने सर्वाधिक 56 रन बनाए. उनके अलावा ओपनर मोहम्मद हफीज ने 43 रन बनाए. भारत की तरफ से जहीर खान, आशीष नेहरा, हरभजन सिंह, युवराज सिंह और मुनाफ पटेल ने 2-2 विकेट लिए. सचिन तेंदुलकर को उनकी पारी के लिए मैन ऑफ द मैच चुना गया.

First published: 30 March 2018, 13:50 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी