Home » क्रिकेट » Parthiv Patel reveals how he lost a finger have onlu nine Finger
 

टीम इंडिया के इस विकेटकीपर के हाथ में हैं केवल 9 उंगलियां, ग्लव्स पहनने के लिए करता है जुगाड़

कैच ब्यूरो | Updated on: 24 April 2020, 22:25 IST
Parthiv Patel

भारतीय क्रिकेट टीम (India National Cricket Team) के विकेटकीपर बल्लेबाज पार्थिव पटेल (Parthiv Patel) के बारे में कहा जा कि वो टीम इंडिया (Team India) के लिए हमेशा के लिए खेलते रहेंगे तो यह गलता नहीं होगा. पार्थिव पटेल ने टीम इंडिया के लिए अपना पहला मुकाबला साल 2002 में अपना डेब्यू मुकाबला खेला था जिसके बाद से उन्होंने कभी पीछे मुड़कर नहीं देखा है. साल 2002 में टीम में एंट्री मिलने के बाद अगले ही साल वो साल 2003 में दक्षिण अफ्रीका (South Africa) में हुए विश्व कप (World Cup 2003) में टीम का हिस्सा बने लेकिन जब धोनी (MS Dhoni) ने टीम में अपनी जगह बनाई तो उन्हें टीम से बाहर का रास्ता दिखा दिया गया.

पार्थिव पटेल को भले ही राष्ट्रीय टीम में डगह नहीं मिली लेकिन यह खिलाड़ी घरेलू क्रिकेट में खेलता रहा और रन बनाता रहा और रनों की इसी भूख ने उन्हें 2018 में टीम में वापसी कराई, जब उन्हें जोहान्सबर्ग टेस्ट में दक्षिण अफ्रीका दौरे पर टीम में जगह मिली. पार्थिव पटेल बीते 18 साल से टीम इंडिया के लिए खेल रहे हैं और इतने लंबे समय से खेलने के बाद भी बहुत कम लोग इस बात से वाकिफ हैं कि पार्थिव पटेल की केवल नौ उंगलियां हैं. जी हां, उनके बाएं हाथ में एक शिशु उंगली नहीं है.


ये भी पढ़े-भुवनेश्वर कुमार चोट से पुरी तरह हुए फिट, वापसी का कर रहे बेसब्री से इंतजार

पार्थिव पटेल हाल ही में एक यूट्यूब शो 'काउ कॉर्नर क्रॉनिकल्स' में इस घटना को याद करते हुए बताया कि जब वह हुआ था तब वह केवल छह साल के थे. उसके बाएं हाथ की छोटी उंगली दरवाजे में फंसकर कट गई. उन्होंने यह भी बताया कि नौ उंगलियों वाला विकेटकीपर होना थोड़ा कठिन है और उनकी बेबी फिंगर दस्ताने में फिट नहीं है. इंस्टा लाइव सत्र के दौरान उन्होंने कहा,'जब मैं छह साल का था, तब मेरी उंगली दरवाजे पर आ गई और कट गई.'

ये भी पढ़े- कोरोना वायरस का असर, इंग्लैंड क्रिकेट बोर्ड ने जुलाई तक के लिए रद्द किए सभी टूर्नामेंट

हालांकि, पार्थिव पटेल ने उल्लेख किया कि वह दस्ताने को उंगली पर टेप से चिपका देते हैं ताकि वह संयुक्त रहे और उसे खेलते समय किसी भी समस्या का सामना न करना पड़े. लेकिन बाएं हाथ के खिलाड़ी को इस बात पर गर्व है कि उन्होंने अपने देश का प्रतिनिधित्व केवल नौ उंगलियों के साथ उच्चतम स्तर पर विकेट कीपर के रूप में किया है.

ये भी पढ़े- ICC के इस फैसले से हो सकता है IPL 2020 का रास्ता साफ!

पार्थिव पटेल ने कहा,'यह एक तरह से थोड़ा मुश्किल है क्योंकि आखिरी उंगली विकेट कीपिंग दस्ताने में फिट नहीं होती है. इसलिए मैं इसे दस्ताने के नीचे टेप से इसे चिपकाता हूं, ताकि यह संयुक्त बना रहे. मुझे नहीं पता कि यह कैसे हुआ अगर मेरे पास सभी उंगलियां हैं लेकिन जब मैं पीछे मुड़कर देखता हूं, तो भारत को नौ अंगुलियों के साथ विकेट कीपर के रूप में प्रतिनिधित्व करना अच्छा लगता है.'

ये भी पढ़े- HBD Sachin Tendulkar: जब सचिन तेंदुलकर ने की थी अपनी टीम के लिए विकेटकीपिंग, लगी थी गंभीर चोट

First published: 24 April 2020, 22:18 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी