Home » क्रिकेट » R Ashwin becomes the fastest bowler to gets 300 Test wickets in international cricket
 

अश्विन ने दुनिया के महान गेंदबाजों को पछाड़ कर बनाया ये वर्ल्ड रिकॉर्ड

हेमराज सिंह चौहान | Updated on: 27 November 2017, 14:19 IST

नागपुर टेस्ट में सोमवार को भारत ने मेहमान टीम को एक पारी और 239 रनों के विराट अंतर से हरा दिया. इसी के साथ टीम इंडिया ने तीन टेस्ट मैचों की सिरीज में बढ़त बना ली है. दोनों देशों के बीच आखिरी टेस्ट मैच दिल्ली के फिरोजशाह कोटला मैदान में 2 दिसंबर से होगा.  

टीम इंडिया को नागपुर टेस्ट में मिली जीत अश्विन और टीम इंडिया के लिए दोहरी खुशी लेकर आई है. आर अश्विन ने नागपुर टेस्ट में वो कर दिखाया जो आज तक दुनिया के कई महान गेंदबाज नहीं कर पाए. अश्विन ने इस टेस्ट में 8 विकेट लेने के साथ ही नया वर्ल्ड रिकॉर्ड अपने नाम कर लिया. आर अश्विन दुनिया के पहले गेंदबाज बन गए हैं, जिन्होंने सबसे तेजी से 300 विकेट लिए हैं.

डेनिस लीली को पीछे छोड़ा

इससे पहले ये रिकॉर्ड आस्ट्रेलिया के दिग्गज तेज़ गेंदबाज डेनिस लिली के नाम था. उन्होंने 56 टेस्ट मेैचों में ये रिकॉर्ड अपने नाम किया था. लिली को पछाड़ कर अश्विन ने 54 टेस्ट मैचों में 300 विकेट लेने का रिकॉर्ड बनाया. वहीं श्रीलंका के महान ऑफ स्पिनर मुथैया मुरलीधरन को भी पटखनी दे डाली, जिन्होंने इस आंकड़े को छूने के लिए 58 टेस्ट लिए थे. गौरतलब है कि नागपुर टेस्ट से पहले अश्विन के खाते में 292 विकेट जमा थे. ईडन गार्डन में उनके हिस्से में पूरे मैच में सिर्फ आठ ही ओवर आए और वो कोई विकेट नहीं ले पाए.

 

इसके बाद नागपुर टेस्ट में गेंदबाजी का मौका मिला तो अश्विन ने इसे भुनाने में देर नहीं की. उन्होंने पहली पारी में चार और दूसरी पारी में भी चार विकेट चटकाते हुए टेस्ट मैच में कुल आठ विकेट चटकाए. इसी के साथ अश्विन ने अपने करियर में एक एतिहासिक उपलब्धि दर्ज कर लिया.

टेस्ट में अश्विन का प्रदर्शन

आर अश्विन अब तक खेले 54 टेस्ट मैचों में से 34 भारत और सिर्फ 20 टेस्ट मैच विदेशी जमीं पर खेले हैं. अश्विन ने भारत में खेले 34 टेस्ट मैचों में जहां 215 विकेट चटकाए, तो वहीं वह विदेश में खेले 20 टेस्ट मैचों में 84 विकेट चटकाए. भारत में अश्विन ने जहां पारी में पांच विकेट 20 बार चटकाए, तो विदेश में वह छह बार एसा कर सके. इसके अलावा भारत में उन्होंने मैच में दस विकेट 6 बार लिए, तो विदेशी धरती पर वह ऐसा एक ही बार कर सके.

First published: 27 November 2017, 14:19 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी