Home » क्रिकेट » Cricketer Rahul Dravid: best test innings of 'The wall'
 

'द वॉल': बेहतरीन पारियां जिन्होंने द्रविड़ को बनाया भारतीय क्रिकेट की दीवार

वंसों सरल | Updated on: 11 January 2017, 14:17 IST
(फाइल फोटो )

भारतीय क्रिकेट के ‘मिस्टर भरोसेमंद’,‘द वॉल’जैस नामों से पहचाने जाने वाले राहुल द्रविड़ का आज 43वां जन्मदिन हैं. द्रविड़ भारतीय क्रिकेट के महान बल्लेबाजों में से एक हैं. उनकी गिनती ना सिर्फ भारत के बल्कि विश्व के महान बल्लेबाजों में की जाती है. 

टेस्ट क्रिकेट में सर्वाधिक रन बनाने वाले खिलाड़ियों में द्रविड़ को चौथा स्थान हासिल है, भारत के सचिन तेंदुलकर, आस्ट्रेलिया के रिकी पोंटिंग और दक्षिण अफ्रीका के जैक कैलिस के बाद उनका नाम है. एक नज़र द वॉल की उन दो बेहद ख़ास पारियों पर जिन्होंने बनाया द्रविड़ को भारतीय क्रिकेट की दीवार:

कोलकाता टेस्ट

गेट्टी इमेज

साल 2001 का वक्त था. ऑस्ट्रेलिया की टीम भारत के दौरे पर थी. कोलकाता के ईडन गार्डन पर दूसरा टेस्ट खेला जा रहा था. पहली पारी में ऑस्ट्रेलिया ने माइकल हेडन और कप्तान स्टीव वॉ की बदौलत 445 रन का स्कोर खड़ा कर दिया. इसके बाद भारत की पहली पारी 171 रन के मामूली से स्कोर पर ऑल आउट हो गई और फॉलोआन नहीं बचा पाई.

इसके बाद भारत फॉलोआन खेलने मैदान पर उतरा और अपनी दूसरी पारी में 657 रन का विशाल स्कोर खड़ा कर दिया. ये वहीं मैच था जिसमें वेरी वेरी स्‍पेशल' लक्ष्‍मण ने 281 रन की यादगार पारी खेली थी. 

लेकिन इसमें राहुल द्रविड की भूमिका को नजरअंदाज नहीं किया जा सकता. मैच की दूसरी पारी में राहुल और लक्ष्‍मण के बीच पांचवें विकेट के लिए 376 रन की साझेदारी हुई. इसमें राहुल द्रविड़ की 180 रन की बेहतरीन पारी भी शामिल रही.  इस मैच में फॉलोआन खेलने के बावजूद भारत ने शानदार जीत दर्ज की. 

एडिलेड टेस्ट

गेट्टी इमेज

कोलकाता टेस्ट के दो साल बाद राहुल ने ऑस्‍ट्रेलिया की धरती पर एक बार फिर कमाल किया. ये वो वक्त था जब कंगारु टीम को उसकी धरती पर हराना असंभव माना जाता था. हेडन, पोंटिंग और स्टीव जैसे खिलाड़ियों से सजी इस टीम की पूरी दुनिया में तूती बोलती थी.

बॉर्डर-गावस्कर ट्राफी का दूसरा मैच एडिलेड में खेला जा रहा था. ऑस्‍ट्रेलिया ने पहले बल्लेबाजी करते हुए पहली पारी में 556 रनों का स्कोर खड़ा कर दिया. इसमें रिकी पांटिंग ने दोहरा शतक जड़ा. इसके बाद भारत ने भी उछाल भरी पिच पर कंगारु गेंदबाजों की गेंदो का धैर्य से सामना करते हुए 523 रन का स्कोर बनाया. राहुल ने 446 गेंद खेलते हुए 233 रन की महत्वपूर्ण पारी खेली. इस पारी में  वीवीएस लक्ष्मण ने द्रविड का पूरा साथ दिया. द्रविड और लक्ष्मण के बीच 5वें विकेट के लिए 303 रन की साझेदारी हुई. लक्ष्मण ने 148 रन बनाए.

मैच की दूसरी पारी में भारत के गेंदबाजों ने शानदार प्रदर्शन करते हुए कंगारु टीम को 196 रन पर ऑल आउट कर दिया. इस पारी में अजीत अगरकर ने 16.2 ओवर में 6 विकेट हासिल किए. भारत को इस टेस्ट को जीतने के लिए 230 रन का लक्ष्य मिला जिसके करीब पहुंचना एडिलेड में आसान नहीं था. भारत की ओर से दूसरी पारी में भी द्रविड ऑस्ट्रेलिया के गेंदबाजों के सामने दीवार बनकर खड़े रहे और ऑस्ट्रेलिया की धरती पर भारत को जीत दिला दी. इस पारी में द्रविड ने 172 गेंद खेलते हुए नाबाद 72 रन बनाए. 

'मिस्टर भरोसेमंद' का करियर

राहुल द्रविड का जन्म 11 जनवरी 1973 को इंदौर में हुआ था. जून 1996 में द्रविड ने अपने टेस्‍ट करियर का आगाज किया था. यह वही मैच था जिसमें टीम इंडिया के एक अन्‍य धमाकेदार बल्‍लेबाज सौरव गांगुली ने भी अपने टेस्‍ट करियर की शुरुआत की थी. शानदार बल्लेबाजी बदौलत द्रविड़ के नाम पर इंटरनेशनल क्रिकेट के कई रिकॉर्ड्स दर्ज हैं. मौजूदा समय में वो अंडर-19 टीम इंडिया के कोच हैं.

उन्होंने टीम इंडिया को कई अहम मैचों में जीत दिलाई है. सबसे ज्यादा कैच लेने का रिकॉर्ड द्रविड़ के नाम दर्ज है. टीम इंडिया की ओर से महज दो ही ऐसे बल्लेबाज हैं, जिन्होंने टेस्ट और वनडे दोनों ही फॉरमैट में 10,000 से ज्यादा रन बनाए हैं. सचिन तेंदुलकर के अलावा द्रविड़ ही वो दूसरे बल्लेबाज हैं. द्रविड़ ने टेस्ट में 52.31 की औसत से 13,288 रन बनाए हैं, जिसमें 36 सेंचुरी और 63 हाफसेंचुरी शामिल हैं. वहीं वनडे की बात करें तो द्रविड़ ने 344 मैचों में 39.16 की औसत से 10,889 रन बनाए हैं. द्रविड़ ने 12 वनडे सेंचुरी ठोकी हैं.

द्रविड़ ने टेस्‍ट और वनडे दोनों में ऐसी पारियां खेलीं, जो उनके करियर के लिहाज से मील का पत्‍थर रहीं. ये वो वक्त था जब क्रिकेट की दुनिया पर ऑस्‍ट्रेलिया का एकछत्र राज चलता था. 

साल 2003 में ऑस्‍ट्रेलिया के खिलाफ एडिलेड में खेली गई 233 रन की पारी और कोलकाता टेस्‍ट में ऑस्‍ट्रेलिया के खिलाफ 2001 में खेली गई राहुल द्रविड़ की 180 रन की बेहतरीन पारी का की ही बदौलत उन्हें ‘दि वॉल’ जैसी उपाधियों से नवाजा गया. टेस्‍ट करियर में राहुल ने पांच दोहरे शतक जमाए और पाकिस्‍तान के खिलाफ 270 उनका टॉप स्‍कोर रहा.

First published: 11 January 2017, 14:17 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी