Home » क्रिकेट » Rajat Sharma DDCA president Resignation set the alarm bells ringing
 

रजत शर्मा बोले, इस्तीफे से डीडीसीए के असली चेहरे को उजागर करना चाहता था

कैच ब्यूरो | Updated on: 17 November 2019, 13:42 IST

वरिष्ठ पत्रकार रजत शर्मा ने शानिवार को दिल्ली एवं जिला क्रिकेट संघ के इस्तीफा दे दिया. डीडीसीए के त्यागपत्र देने के बाद उन्होंने अपने बयान में इस संस्थान को भ्रष्टाचार को अड्डा बताया. इतना ही नहीं उन्होंने कहा कि उनका इस्तीफे से इस संस्थान को चेतावनी मिलेगी. बीते साल जुलाई में रजत शर्मा डीडीसीए के अध्यक्ष बने थे. इस संस्थान से इस्तीफा देने के बाद उन्होंने कहा कि उन्होंने डीडीसीए को पारदर्शी तरीके से चलाने की पूरी कोशिश की.

दिल्ली एवं जिला क्रिकेट संघ के इस्तीफा देने के बाद उन्होंने कहा,'मैं इस इस्तीफे से डीडीसीए के असली चेहरे को उजागर करना चाहता था. आज भी डीडीसीए में ऐसे लोग जुड़े हैं जिनकी दिलचस्पी अंतरराष्ट्रीय मैचों से पहले अनुबंध और निविदाओं को हासिल करने में रहती है. वे खिलाड़ियों के चयन में भी दखलअंदाजी करते हैं.'

वरिष्ठ पत्रकार रजत शर्मा ने आगे कहा,'इसे खतरे की घंटी की तरह देखा जाना चाहिए ताकि उच्चतम न्यायालय, क्रिकेटरों और बीसीसीआई सहित सभी हितधारकों को पता चले कि इस तरह के निहित स्वार्थ से जुड़े लोग डीडीसीए में है. अब उन्हें भविष्य की कार्रवाई तय करनी चाहिए.'

रजत शर्मा ने बताया कि वो अपने कार्यकाल के बाकी के दो साल तक पद पर बने रह सकते थे. लेकिन वो लोगों को डीडीसीए में चल रही अनिमियत्ताओं की तरफ सबका ध्यान लाना चाहते थे. उन्होंने कहा,'मैं आराम से अपने कार्यकाल के बचे हुए अगले दो साल तक पद पर बना रह सकता था. लेकिन मुझे लगा कि लोगों को इससे अवगत करना चाहिए. मैं अगर आज इस्तीफा नहीं देता तो यह सदस्यों के लिए अनुचित होता.' रजत शर्मा ने आगे बताया कि इस संस्थान का प्रशासन हर समय खींचतान और दबावों से भरा होता है.

रजत शर्मा के इस्तीफे के बाद डीडीसीए में इस्तीफा देने की होड़ सी मच गई. रजता शर्मा के इस्तीफे के कुछ घंटों में ही सीईओ रवि चोपड़ा, क्रिकेट सलाहकार समिति (सीएसी) के सदस्य सुनील वाल्सन और यशपाल शर्मा ने भी अपना पद से त्यागपत्र दे दिया.

IND vs BAN: भारत ने बांग्लादेश को पारी और 130 रनों के बड़े अंतर से हराया, 18 साल बाद हुआ ये बड़ा कारनामा

First published: 17 November 2019, 13:42 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी