Home » क्रिकेट » Rajeev Shukla Support Virat Kohli on BCCI Busy Schedule
 

IPL के चेयरमैन ने किया विराट कोहली का समर्थन, बोले- सीओए ने बनाया थकाउ कार्यक्रम

कैच ब्यूरो | Updated on: 24 January 2020, 15:33 IST

भारत और न्यूजीलैंड के बीच पांच टी20 मैचों की सीरीज(India vs New Zealand T20 Series) से पहले हुई प्रेस कांफ्रेंस में भारतीय क्रिकेट टीम(Indian Cricket Team) के कप्तान विराट कोहली(Virat Kohli) ने टीम इंडिया के बिजी शेड्यूल को लेकर बीसीसीआई(BCCI) पर तंज कसा था. विराट कोहली ने बयान के बाद बीसीसीआई के एक सीनियर अधिकारी ने न्यूज एंजेसी आईएएनएस से बात करते हुए कहा था कि विराट कोहली को अगर बिजी शेड्यूल से शिकायत थी तो उन्हें मीडिया में बयान देने से पहले बोर्ड को इस बारे में बताना चाहिए था. वहीं अब विराट कोहली को बीसीसीआई के पूर्व उपाध्यक्ष और आईपीएल के पूर्व चैयरमैन राजीव शुक्ला(Rajeev Shukla) का साथ मिला है. राजीव शुक्ल ने सोशल मीडिया पर टीम इंडिया के बिजी शेड्यूल के लिए सीओए को निशाना बनाया है.

सुप्रीम कोर्ट द्वारा गठित प्रशासकों की समिति द्वारा बनाए गए कार्यक्रम को बेहद खराब बताते हुए बीसीसीआई के पूर्व उपाध्यक्ष ने कहा,'एक मुकाबले और सीरीज नहीं कराया जाना चाहिए. खिलाड़ियों को आराम करने का वक्त जरूर देना चाहिए. इतना ही नहीं उनको जगह के मुताबिक खुद को ढालने के लिए भी समय दिया जाना चाहिए. सीओए को कार्यक्रम को फाइनल करने से पहले इन सभी चीजों को ध्यान में रखना चाहिए था.'

 

बता दें, भारत ने न्यूजीलैंड का दौरा करने से पहले ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ तीन वनडे मैचों की टी20 सीरीज(India vs Australia ODI Series) खेली थी. इस सीरीज का आखिरी मुकाबला  19 जनवरी को खेला गया था. ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ सीरीज से आखिरी मुकाबले के लिए बाद टीम इंडिया सीधे न्यूजीलैंड पहुंची. वहीं न्यूजीलैंड के खिलाफ पांच टी20 मैचों की सीरीज के पहले मुकाबले की पूर्व संध्या पर विराट कोहली ने बिजी शड्यूल को लेकर बीसीसीआई पर निशाना साधा था.

बता दें, विश्व कप के 12वें संस्करण(World Cup 2019) के बाद से ही टीम इंडिया लगातार क्रिकेट खेल रही है. ऐसे में विराट कोहली ने जब इतने बिजी शड्यूल की शिकायत की तब बीसीसीआई ने भी कोहली को जवाब देने में देर नहीं लगाई. बीसीसीआई के एक अधिकारी ने इस बारे में विराट कोहली की शिकायत पर कहा, 'कोहली को मुद्दा उठाने का पूरा अधिकार है, लेकिन सच कहूं तो खिलाड़ियों की सुविधा का ध्यान रखकर ही ट्रेवल प्लान तय किया जाता है. आप देखिए कि विश्व कप से पहले हमने जितना संभव हो सका खिलाड़ियों को स्पेस दिया और इसी क्रम में खिलाड़ियों को दिवाली के समय ब्रेक मिला.'

बाबर आजम ने सुनाई अपने संघर्ष की कहानी, बताया- स्टेडियम पहुंचने के लिए चलते थे 3 मील पैदल

First published: 24 January 2020, 14:15 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी