Home » क्रिकेट » Ramachandra Guha on Virat Kohli and Anil Kumble controversy
 

विराट कोहली और अनिल कुंबले के विवाद पर मशूहर इतिहासकार ने उठाए सवाल, कहा- कप्तान को कैसे मिल सकती है इतनी ताकत

कैच ब्यूरो | Updated on: 29 November 2020, 0:05 IST

साल 2017 के चैंपियंस ट्रॉफी के फाइनल मुकाबले में टीम इंडिया को पाकिस्तान के हाथों हार का सामना करना पड़ा था. इस हार के बाद टीम इंडिया में दरार की खबरें सामने आई थीं और इसके बाद टीम इंडिया के पूर्व कप्तान और तत्कालीन कोच अनिल कुंबले ने इस्तीफा दे दिया था. वहीं अब इतिहासकार और सुप्रीम कोर्ट द्वारा नियुक्त प्रशासकों की समिति के सदस्य रामचंद्र गुहा ने इस पर अपनी बात कही है.

रामचंद्र गुहा ने हाल ही में क्रिकेट वेबसाइट क्रिकइन्फो को एक इंटरव्यू दिया है जिसमें उन्होंने इस विवाद को लेकर अपनी बात कही है, साथ ही उन्होंने विराट कोहली को बतौर कप्तान मिली ताकत को लेकर भी सवाल उठाए हैं.


उन्होंने कहा,"मैं कोहली और अनिल कुंबले के बीच के विवाद की बात कर रहा हूं. कोहली को यह शक्ति कैसी मिल सकती है कि वह इस बात का चुनाव करें कि टीम का कोच कौन होगा कौन नहीं? यह किसी भी टीम में नहीं होता है, दुनिया में कहीं भी नहीं."

रामचंद्र गुहा ने इस दौरान उस बैठक का भी जिक्र किया है जिसमें महेंद्र सिंह धोनी को केंद्रीय अनुबंध की ग्रेड में बदलाव करने की बात होनी थी. यह बैठक धोनी के टेस्ट से संन्यास लेन के बाद हुई है. क्योंकि वह टेस्ट से संन्यास ले चुके थे. रामचंद्र गुहा ने इस दौरान बताया कि सीओए के बाकी सदस्य ऐसा करने से डर रहे थे.

रामचंद्र गुहा ने कहा,"धोनी ने फैसला कर लिया था कि वह टेस्ट क्रिकेट नहीं खेलेंगे. वह सिर्फ वनडे खेलेंगे. मैंने कहा था (सीओए में) कि उन्हें ग्रेड-A का अनुबंध नहीं मिलना चाहिए. साफ बात है, यह अनुबंध उन खिलाड़ियों के लिए है जो तीनों प्रारूप खेलते हों. वह टेस्ट नहीं खेलना चाहते यह उनका फैसला है. उन्होंने कहा, हमें उन्हें A से B ग्रेड में लाने में डर लगता है."

रामचंद्र गुहा ने आगे कहा,"बोर्ड से ज्यादा सुप्रीम कोर्ट द्वारा नियुक्त कि गई CoA जिसका अध्यक्ष सीनियर आईएएस थे और वो कमेटी डरी हुई थी. मुझे लगा कि यह बड़ी समस्या है. इसलिए मैंने इसका विरोध किया. जब मैं कुछ कर नहीं सका तो मैंने इसके बारे में लिखा."

IND vs AUS: संजय मांजरेकर ने रविंद्र जडेजा को लेकर फिर दिया विवादित बयान, कहा - वनडे क्रिकेट में नहीं पसंद

First published: 28 November 2020, 23:59 IST
 
अगली कहानी