Home » क्रिकेट » Ravi Shastri appointed next coach of Team India
 

टीम इंडिया को मिला विराट की पसंद का नया कोच

कैच ब्यूरो | Updated on: 12 July 2017, 9:57 IST
रवि शास्त्री/ फाइल फोटो

रवि शास्त्री को भारतीय क्रिकेट टीम का नया कोच नियुक्त किया गया है. बीसीसीआई की तीन सदस्यों की समिति ने रवि शास्त्री के नाम पर मुहर लगाई है. बतौर कोच रवि शास्त्री का कार्यकाल दो साल के लिए होगा. शास्त्री 2019 वर्ल्ड कप तक टीम इंडिया के कोच बने रहेंगे.

सचिन तेंदुलकर, सौरव गांगुली और वीवीएस लक्ष्मण की सीएसी (क्रिकेट एडवायजरी कमिटी) ने रवि शास्त्री के कोच बनने को अपनी मंजूरी दी है. इससे पहले अनिल कुंबले टीम इंडिया के कोच थे.

टीम इंडिया के कोच पद के लिए शास्त्री के अलावा वीरेंद्र सहवाग, रिचर्ड पाइबस, टॉम मूडी और फिल सिमंस ने आवेदन किया था. इसके लिए आवेदकों का साक्षात्कार भी हुआ था. बतौर कोच शास्त्री की पहली परीक्षा श्रीलंका में होगी, जहां इसी महीने टीम इंडिया का दौरा शुरू हो रहा है. 

द्रविड़ बल्लेबाज़ी और ज़हीर गेंदबाज़ी कोच

रवि शास्त्री के अलावा ज़हीर खान को भारतीय टीम का गेंदबाज़ी कोच बनाया गया है. साथ ही द वॉल के नाम से मशहूर राहुल द्रविड़ को विदेशी दौरों के लिए टीम का बैटिंग कोच नियुक्त किया गया है.

यह फैसला सीएसी के नेतृत्व में हुआ. राहुल द्रविड़ अंडर-19 और भारत-ए टीम के साथ भी जुड़े रह चुके हैं. बतौर मध्य क्रम के बल्लेबाज उनका विदेशी दौरों में शानदार रिकॉर्ड रहा है. एडिलेड में द्रविड़ ने दोहरा शतक जड़ते हुए टीम इंडिया को ऑस्ट्रेलिया के ख़िलाफ़ यादगार जीत दिलाई थी. 

कोहली की पसंद शास्त्री 

माना जा रहा है कि टीम इंडिया के कप्तान विराट कोहली की राय को तरजीह देते हुए शास्त्री को कोच बनाया गया है. शास्त्री इससे पहले भारतीय टीम के डायरेक्टर भी रह चुके हैं. 

चैंपियंस ट्रॉफी से पहले कोहली ने सचिन तेंदुलकर, सौरव गांगुली और वीवीएस लक्ष्मण से कोच पद की दौड़ में शास्त्री का नाम शामिल करने का अनुरोध किया था. कोच के चयन की प्रक्रिया में शास्त्री को सबसे मजबूत दावेदार माना जा रहा था. माना जा रहा है कि कप्तान विराट कोहली ने भी उनके नाम पर सहमति जताई.

सचिन ने दिए थे संकेत

टीम इंडिया के पूर्व मैनेजर रवि शास्त्री को सीएसी के तीन सदस्यों में से एक सचिन तेंदुलकर ने भी कहा था भारत के कप्तान विराट कोहली शास्त्री को बतौर कोच देखना चाहते हैं और दोनों के बीच अच्छे रिश्ते भी हैं.

गौरतलब है कि 2016 में जब सीएसी ने अनिल कुंबले को कोच चुना था, तब भी सचिन तेंदुलकर के अलावा सौरव गांगुली और वीवीएस लक्ष्मण सीएसी के सदस्य थे, तब टीम के डायरेक्टर रह चुके शास्त्री का कोच बनना तय माना जा रहा था. लेकिन अनिल कुंबले की एंट्री ने सारे समीकरण बदल दिए.

तेंदुलकर ने तब भी शास्त्री का पक्ष लिया था और कहा था कि टीम उनके साथ खुश है और उन्हें ही टीम का कोच नियुक्त करना चाहिए, लेकिन उस वक्त सौरव गांगुली ने अनिल कुंबले को तरजीह दी.

First published: 11 July 2017, 16:50 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी