Home » क्रिकेट » Ravindra Jadeja hit six six in a over in an inter-district T20 tournament in Rajkot after yuvraj singh
 

सर जडेजा बने 'सिक्सर किंग', एक ओवर में 6 छक्के लगाकर किया कमाल

कैच ब्यूरो | Updated on: 16 December 2017, 15:50 IST

टेस्ट क्रिकेट में टीम इंडिया के स्पिनर रवींद्र जडेजा बॉलिंग से लगातार कमाल कर रहे हैं. जडेजा को उनकी बॉलिंग के साथ-साथ तेज बैटिंग के लिए भी जाना जाता है. भारतीय टीम में उनकी एंट्री युवा हरफनमौला के तौर पर हुई थी. जडेजा लंबे समय से सीमित ओवर के क्रिकेट से बाहर चल रहे हैं. श्रीलंका के ख़िलाफ़ खेली जा रही वनडे सिरीज से भी वो बाहर हैं.

जडेजा ने राजकोट में खेले गए T20 मुकाबले में कमाल कर टीम इंडिया में अपनी दावेदारी ठोकी है. जडेजा ने राजकोट में खेले गए एक लोकल मैच में शानदार रिकॉर्ड बनाया है. वो युवराज सिंह के बाद T20 मुकाबले में लगातार छह छक्के लगाने वाले दूसरे भारतीय खिलाड़ी बन गए हैं. रवींद्र जडेजा ने सौराष्ट्र क्रिकेट एसोसिएशन के इंटर-डिस्ट्रिक्ट टूर्नांमेंट में ये कमाल किया है.

जडेजा ने शुक्रवार को जामनगर की ओर से खेलते हुए एक ओवर में छह छक्के मारे. जडेजा ने तूफानी पारी खेलते हुए अमरेली के खिलाफ 69 गेंदों में शानदार 154 रन बनाए. जडेजा ने अमरेली के मीडियम पेसर नीलम वम्जा के एक ओवर में फेंकी गई छह बॉलों में लगातार छह छक्के ठोके.

जडेजा ने 154 रन की अपनी तूफानी पारी में 15 चौके और 10 छक्के लगाए. जडेजा 154 रन बनाकर रन आउट हुए. उनकी इस पारी की बदौलत जामनगर ने पहले खेलते हुए 6 विकेट के नुकसान पर 239 रन का विशाल स्कोर खड़ा दिया. 240 रन के पहाड़ से लक्ष्य का पीछा करने उतरी अमरेली की टीम 20 ओवर में पांच विकेट खोकर 118 रन ही बना सकी. जामनगर की टीम ने ये मैच 121 रन से जीता. 

गौरतलब है कि पहले T20 विश्वकप में 19 सितंबर 2007 को युवराज ने इंग्लैंड के स्टुअर्ट ब्रॉड के एक ओवर में लगातार छह छक्के मारे थे. भारत की तरफ से युवराज सिंह और जडेजा ने T20 क्रिकेट में ये कमाल किया है. जबकि रवि शास्त्री के नाम रणजी मैच में एक ओवर में लगातार छह छक्के मारने का रिकॉर्ड है.

रवि शास्त्री इस समय टीम इंडिया के हेड कोच है. शास्त्री ने 10 अगस्त 1985 को बड़ौदा के खिलाफ रणजी मुकाबले में तिलक राज के ओवर में लगातार छह छक्के मारे थे.

First published: 16 December 2017, 15:50 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी