Home » क्रिकेट » Rohit Sharma says Cricketers can’t complain of burnouts, tight match schedule in international cricket.
 

'ज़्यादा क्रिकेट खेलने से दिक्कत होने के बहाने नहीं बना सकते खिलाड़ी'

कैच ब्यूरो | Updated on: 16 September 2017, 10:28 IST

लंबे इंटरनेशनल सीजन से पहले, भारतीय वनडे टीम के उप-कप्तान रोहित शर्मा ने कहा कि क्रिकेट खिलाड़ियों को व्यस्त कार्यक्रम की शिकायत नहीं करनी चाहिए क्योंकि उनका करियर काफी छोटा होता है. रोहित ने कहा कि खिलाड़ियों को जितना समय मिले उसका फायदा उठाना चाहिए.

भारत को रविवार से आस्ट्रेलिया के खिलाफ पांच वनडे मैचों की सीरीज खेलनी है. इसके बाद वह आस्ट्रेलिया से ही तीन टी-20 मैचों की सीरीज खेलेगा. आस्ट्रेलिया से सिरीज़ खत्म होने के बाद वह न्यूजीलैंड के खिलाफ घर में ही तीन वनडे और तीन टी-20 मैचों की मेजबानी करेगा और फिर दक्षिण अफ्रीका के लिए रवाना होगा. 

अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (आईसीसी) की वेबसाइट ने रोहित के हवाले से लिखा है, "क्रिकेट खिलाड़ियों का करियर सीमित होता है. हम 60-70 की उम्र तक नहीं खेल सकते, हमें जितना समय मिलता है उसका अच्छे से इस्तेमाल करना चाहिए. व्यस्त कार्यक्रम जैसे बहाने नहीं हो सकते."

भारत की वनडे टीम के उप-कप्तान ने कहा, "हम सभी व्यस्त कार्यक्रम के आदी हो गए हैं. यह अभी नहीं हो रहा है बल्कि काफी दिनों से हो रहा है. हम सभी जानते हैं कि अपने शरीर का किस तरह से ख्याल रखना है. हमारी मदद करने के लिए फीजियो, ट्रेनर हैं."

रोहित ने कहा, "कार्यक्रम के कारण ही आप कई रोटेशन देखते हैं, जब भी हम खेलते हैं हमें इस बात को सुनिश्चित करना होता है कि सभी खिलाड़ी सौ फीसदी फिट रहें." घुटने की चोट से वापसी करने वाले इस बल्लेबाज ने कहा कि वह ज्यादा से ज्यादा खेलना चाहते हैं.

उन्होंने वापसी पर कहा, "मैं चोट से वापस आया हूं. मैं अपने आप को ब्रेक नहीं देता. मैं लगातार ज्यादा से ज्यादा खेलना चाहता हूं. मुझे जब भी मौका मिलेगा मैं मैदान पर खेलूंगा."

First published: 16 September 2017, 10:28 IST
 
अगली कहानी