Home » क्रिकेट » Sachin Tendulkar and Virender Sehwag about doing his open for team india in latest episode of comedian vikram sathaye
 

सचिन-सहवाग ने खोले ड्रेसिंग रूम के राज, बताया-कैसे गांगुली को हटाकर बनाई थी ओपनिंग जोड़ी

कैच ब्यूरो | Updated on: 9 June 2018, 18:55 IST

टीम इंडिया की सबसे खतरनाक सलामी जोड़ी की जब भी बात होती है, तो , सचिन तेंदुलकर और वीरेंद्र सहवाग की जोड़ी का नाम टॉप पर होता है. सचिन सहवाग ने ओपनिंग करते हुए दुनिया के कई दिग्गज खिलाड़ियों की जमकर धुनाई लगाई है. दोनों ने मिलकर टीम इंडिया को कई मैचों में जीत दिलाई है. लेकिन क्या आपको पता है कि इन दोनों की सलामी जोड़ी कैसे बनी थी. सचिन तेंदुलकर और वीरेंद्र सहवाग ने इस राज से खुद ही पर्दा उठाया है. दोनों ने बताया कि कैसे उन्होंने सौरव गांगुली को ओपनिंग से हटाया.

दरअसल हाल ही में सचिन और सहवाग एक साथ विक्रम साठे के चर्चित शो what the duck में पहुंचे. जहां दोनों ने इस राज से पर्दा उठाया. इस शो में दोनों ने ड्रेसिंग रूम से लेकर मैदान तक के खुद से जुड़े कई राज खोले. इसी दौरान बताया कि कैसे टीम इंडिया को दोनों के रूप में सलामी जोड़ी मिली.

इस दौरान दोनों बातचीत में बताया कि साल 1997 में सौरव गांगुली ने बतौर सलामी बल्लेबाज अच्छा प्रदर्शन किया था. उन्होंने सचिन के साथ जोड़ी बनाकर कई रिकॉर्ड बनाए. सचिन और सौरव ने मिलकर पहले विकेट के लिए कई रिकॉर्ड कायम किए. इसके कुछ सालों के बाद टीम में वीरेंद्र सहवाग की एंट्री हो जाती है. सहवाग के आने के बाद टीम के समीकरण बदलने लगे. गांगुली ने सहवाग के साथ सलामी जोड़ी बना ली.

 इस दौरान सचिन चौथे नंबर पर बल्लेबाजी करने लगे. लेकिन 2003 विश्वकप में मिली शुरुआती हार ने टीम में बड़ा बदलाव कर दिया. टीम की हार से कोच जॉन राइट सलामी जोड़ी को लेकर काफी परेशान हो गए.  उन्होंने सचिन सवाल किया कि कहां खेलना है.  सचिन ने इस डिसीजन को टीम पर छोड़ दिया, लेकिन कोच ने जबरदस्ती सचिन से ओपनिंग करने के लिए कहलवा दिया. 

इसके बाद सलामी जोड़ी को लेकर पूरा खेल बदल गया. सभी खिलाड़ियों को सलामी जोड़ी चुनने के लिए कहा गया. 15 खिलाड़ियों में से 14 ने सचिन और सहवाग की जोड़ी को चुना. सहवाग ने कहा कि केवल एक वोट गांगुली के पक्ष में गया. शायद वो खुद दादा का होगा. इसके बाद हमारी जोड़ी ने टीम को एक के बाद एक अच्छी शुरुआत दिलाई. दोनों ने भारत को 2003 विश्वकप के फाइनल में पहुंचाया.

First published: 9 June 2018, 18:29 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी