Home » क्रिकेट » sachin tendulkar says anjali tendulkar's car scratch by fans during world cup celebration
 

सचिन के दिल के करीब है कार पर लगी 'खुशनुमा खरोंच', किया बड़ा खुलासा

कैच ब्यूरो | Updated on: 25 April 2018, 9:37 IST

आपके पास चमकती दमकती कार हो और उस पर कोई खरोंच मार दे तो आपका पारा इतना बढ़ जाएगा जिसका सामने वाले को अंदाजा भी नहीं होगा. यहां तक कि कार पर लगी खरोंच कभी भी उसके मालिक को खुशी नहीं देती लेकिन दुनिया के महान बल्लेबाज और क्रिकेट के भगवान कहे जाने वाले सचिन तेंदुलकर इस मामले में सबसे अलग हैं.

दरअसल, सचिन तेंदुलकर अपनी कार पर लगी खरोंचों को ‘खुशनुमा खरोंच ’ कहते हैं. ऐसा इसलिए है कि इन खरोचों में उनकी पहली और एकमात्र विश्व कप जीत की यादें हैं, जो कभी भी उन्हें खुश होने का मौका देती हैं.

मंगलवार को अपना 45 वां जन्मदिन मनाने वाले सचिन तेंदुलकर ने याद किया कि किस तरह साल 2011 में भारत के 28 साल बाद दूसरा विश्व कप जीतने के जश्न के दौरान उनकी कार पर खरोंचें आ गई थीं.

 

क्रिकेट लेखक बोरिया मजूमदार की किताब ‘इलेवन गॉड्स एंड ए बिलियन इंडियन्स’ के लॉन्च के दौरान तेंदुलकर ने कहा, "हमारे विश्व कप जीतने के बाद, अंधविश्वासी होने के कारण अंजलि (सचिन तेंदुलकर का पत्नी) मैदान पर नहीं आना चाहती थी. मैंने उसे फोन किया और कहा कि तुम घर पर क्या कर रही हो. तुम्हें यहां ड्रेसिंग रूम में होना चाहिए, हम जश्न मना रहे हैं."

उन्होंने बताया, "किसी तरह वह स्टेडियम तक पहुंच गई और जब वह यहां आ रही थी तो स्टेडियम के बाहर लोग नाच रहे थे, जश्न मना रहे थे और कारों के ऊपर कूद रहे थे. यह जश्न हालांकि उस समय कुछ देर के लिए रुक गया जब फैन्स ने अंजलि को पहचान लिया."

 

उन्होंने कहा, "फैन्स ने कहा कि हम इस कार को नहीं छू सकते, इस कार पर हम कुछ नहीं कर सकते. किसी तरह वह स्टेडियम के अंदर आई और इसके बाद हम सभी ने ड्रेसिंग रूम में जश्न मनाया. जब होटल वापस जाने का समय आया तो मैंने कार देखी और हैरान था कि कार की छत पर काफी खरोंचें थी."

ये  भी पढ़ेंः क्या आप जानते हैं सचिन टीम इंडिया के लिए 37 में से 32 जर्सियां पहन चुके हैं

तेंदुलकर बोले, "ड्राइवर ने कहा कि मैडम को छोड़ने के बाद, सभी ने कार के ऊपर कूदना और नाचना शुरू कर दिया इसलिए मैंने कहा कि ये खरोंचे हमेशा मुझे विश्व कप के यादगार लम्हों की याद दिलाएंगे और इसलिए मैं इन्हें 'खुशनुमा खरोंच’ कहता हूं."

First published: 25 April 2018, 9:37 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी