Home » क्रिकेट » Sachin Tendulkar Says India can win in Australia
 

ऑस्ट्रेलिया दौरे को लेकर सचिन ने की भविष्यवाणी, टीम इंडियो को मिलेगी...

न्यूज एजेंसी | Updated on: 2 November 2018, 11:19 IST

भारत के लिए ऑस्ट्रेलिया का दौरा हमेशा से मुश्किल भरा रहा है, लेकिन पूर्व बल्लेबाज सचिन तेंदुलकर का कहना है कि मौजूदा भारतीय टीम में ऑस्ट्रेलिया में जीत हासिल करने का माद्दा है. सचिन के मुताबिक मौजूदा आस्ट्रेलियाई टीम में योग्यता और अनुभव की कमी है, लेकिन विराट कोहली की कप्तानी वाली टीम को मेजबानों को मात देने के लिए अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन देना होगा.

सचिन ने गुरुवार को समाचार चैनल सीएनएन-न्यूज18 से कहा, "हमारे वहां जीतने की काफी संभावना है. अगर आप अतीत की आस्ट्रेलियाई टीम को देखें और उसकी तुलना मौजूदा टीम से करें तो हमारा पलड़ा भारी नजर आता है. शायद हमारे लिए वहां जा कर जीतने का यह सर्वश्रेष्ठ मौका है. मेरा कहना है कि वह टीम इस समय उच्च स्तर की क्रिकेट नहीं खेल रही है. मुझे लगता है कि अतीत में उनकी टीमें काफी अच्छी थीं."

उन्होंने कहा, "उनके पास पहले अच्छे अनुभवी खिलाड़ी थे और यह टीम गैरअनुभवी है. यह टीम अपने आप को एकजुट करने की कोशिश कर रही है और एक अच्छी टीम बनने के प्रयास में है. लेकिन, आस्ट्रेलियाई टीम अपनी प्रतिद्वंद्विता के लिए जानी जाती है. अगर वह अच्छा मुकाबला करें तो मुझे हैरानी नहीं होगी. वहां जाना और उन्हें चुनौती देना आसान नहीं है." पूर्व कप्तान ने कहा, "वहां जा कर उन्हें चुनौती देने के लिए हमारे अंदर आग होनी चाहिए. हमारे पास अच्छे तेज गेंदबाज और स्पिनर हैं. हमारे पास अच्छे बल्लेबाज भी हैं. आप टेस्ट मैच तब जीतते हैं जब आप काफी सारे रन बनाते हैं."

सचिन ने कहा कि कोहली की कप्तानी शैली और उनकी मौजूदा फॉर्म टीम को मजबूती देगी. सचिन ने कहा, "मुझे लगता है कि यह उनकी भूख है.. उनकी मानसिक मजबूती है. उनमें स्थिति को परखने की अच्छी काबिलियत है क्योंकि इसके लिए कोई सेट फॉर्मूला नहीं है. हर दिन आपके सामने कई नई चुनौतियां आती हैं और आपके दिमाग में उनसे तालमेल बिठाने की काबिलियत होनी चाहिए. कोहली इसमें माहिर हैं. उनमें सबसे अच्छी बात यह है कि उनके अंदर भूख है. बल्लेबाज को ऐसा ही होना चाहिए." सचिन ने हाल ही में टी-20 टीम से बाहर किए गए पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी के भविष्य के बारे में भी बात की.

सचिन ने कहा, "मैं कभी कोई फैसला नहीं सुनाता. पहले भी मैंने कभी इस तरह की बातें नहीं की कि चयनकर्ताओं को क्या करना चाहिए. धोनी क्रिकेट के सभी प्रारूप में हमेशा से खतरनाक खिलाड़ी रहे हैं. उन्होंने इतने वर्षो में इसकी जिम्मेदारी भी ली है. मुझे हमेशा से लगता है कि जो खिलाड़ी इतने लंबे समय तक खेलता है, उसे पता होता है कि उसे क्या करने की जरूरत है."

उन्होंने कहा, "मैं भी उस स्थिति में रहा हूं. मैं जानता था कि मुझे क्या करने की जरूरत है. आप ड्रेसिंग रूम में बैठते हैं और अपने दोस्तों से विचार करते हैं. अपने कोच से कई चीजों पर चर्चा करते हैं और आप काफी हद तक जानते हैं कि आपको क्या करना है. मेरा मानना है कि धोनी बहुत अच्छे से जानते हैं कि क्या चल रहा है और उतने ही ठोस तरीके से जानते हैं कि क्या करने की जरूरत है."

 

First published: 2 November 2018, 11:13 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी