Home » क्रिकेट » Cricketer Sana Mir rejects offers to endorse hair removal cream ads and says need strong arms, not smooth arms on a field
 

पाकिस्तान: महिला क्रिकेटर ने Facebook पोस्ट कर कहा, नहीं करूंगी हेयर रिमूवर का ऐड

कैच ब्यूरो | Updated on: 24 April 2018, 10:19 IST

पाकिस्तान की महिला क्रिकेटर सना मीर ने अपने फेसबुक पोस्ट में सौंदर्य उत्पादों लेकर निशाना साधा है. जिसको लेकर सना मीर की खूब तारीफ हो रही है. उन्होंने अपने इस पोस्ट में सौंदर्य उत्पादों से दूरी बनाने की बात कही है.

उन्होंने कहा है कि एक खिलाड़ी को मैदान पर मजबूत हाथों की जरूरत होती है, न कि चिकनी भुजाओं की. सना मीर ने अपने पोस्ट में कहा है कि सौंदर्य उत्पादों के विज्ञापनों महिलाओं को संकोची बनाते है.

वह कभी भी ऐसे उत्पादों के विज्ञापन नहीं करेगी. उन्होने अपनी पोस्ट में हेयर रिमूवर क्रीम के विज्ञापन को लेकर गुस्सा जाहिर किया है. मीर की फेसबुक पोस्ट को काफी पसंद किया जा रहा है.

सना मीर ने कहा है कि उनका महिलाओं खिलाड़ियों के लिए एक संदेश है. महिला खिलाड़ियों को मैदान पर मजबूत हाथ चाहिए होते हैं, न कि चिकनी भुजाएं. उन्होंने कहा कि मैदान पर रंग और शरीर की बनावट से कोई फर्क नहीं पड़ता है. 

मीर ने कहा कि पाकिस्तान और भारत में हेयर रिमूवर क्रीम के प्रचार के लिए एक अभियान चलाया जा रहा है. जिसको लेकर वो इस पर बोलने के लिए मजबूर हुई. मीर ने कहा कि ऐसे विज्ञापन संदेश देते हैं कि एक लड़की बास्केटबॉल कोर्ट पर कैसी दिखती है. उनको इससे कोई फर्क नहीं पड़ता कि इसका एक महिला खिलाड़ी पर क्या असर पड़ेगा.

उन्होंने कहा कि एक युवा लड़कियों को एक संदेश देने की जगह बॉडी शेमिंग और ऑब्जेक्टिफिकेशन का प्रचार कर रहे हैं. उन्होंने सवाल पूछते हुए कहा कि क्या एक लड़की के खेलने के लिए उसकी प्रतिभा, कौशल और जुनून काफी नहीं है. उन्होंने कहा कि दुनियाभर में ऐसी कई महिला खिलाड़ी है. जो त्वचा या बनावट के दम पर नहीं बल्कि अपने कौशल, जुनून, प्रतिभा के दम पर शीर्ष पर पहुंची हैं.

मीर ने महिला युवा खिलाड़ियों को संदेश देते हुए कहा कि गलती मत करो. मैदान पर मजबूत हाथों की जरूरत होती है, न कि चिकनी भुजाओं की.

मीर ने कहा है कि उनको सौंदर्य उत्पादों के विज्ञापन के कई ऑफर मिले. लेकिन उन्होंने उन फर को लेने से मना कर दिया. उन्होंने अपने पोस्ट में लिखा है कि मेरा सभी प्रायोजकों और सेलिब्रिटीज से निवेदन है कि जब वो युवा लड़कियों के सपने पूरा करने के लिए जुड़ें तो उनको आत्मविश्वासी बनाने वाला रास्ता बताएं, न कि उनको सौंदर्य के उत्पादों के विज्ञापन के जरिए संकोची बनाने का काम करें.

उन्होंने कहा कि एक युवा लड़कियों को एक संदेश देने की जगह बॉडी शेमिंग और ऑब्जेक्टिफिकेशन का प्रचार कर रहे हैं. उन्होंने सवाल पूछते हुए कहा कि क्या एक लड़की के खेलने के लिए उसकी प्रतिभा, कौशल और जुनून काफी नहीं है. उन्होंने कहा कि दुनियाभर में ऐसी कई महिला खिलाड़ी है. जो त्वचा या बनावट के दम पर नहीं बल्कि अपने कौशल, जुनून, प्रतिभा के दम पर शीर्ष पर पहुंची हैं.

First published: 23 April 2018, 18:11 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी