Home » क्रिकेट » Sara Tendulkar's stalker Debkumar Maity admitted that lightning guided him to fall in love with her
 

'आसमान में बिजली चमकी तो यकीन हो गया कि सारा तेंदुलकर से प्यार करता हूं'

कैच ब्यूरो | Updated on: 11 February 2018, 17:37 IST

सचिन तेंदुलकर की बेटी सारा तेंदुलकर का पीछा करने के आरोप में गिरफ्तार किए गए शख्स देबकुमार मैटी ने पुलिस को अजीबोगरीब वजह बताई है. मैटी ने दावा किया है कि आकाशीय बिजली चमकी तो उसे यकीन हो गया कि वो सारा तेंदुलकर से प्यार करता है.

हाल ही में सचिन तेंदुलकर की 20 वर्षीय बेटी सारा तेंदुलकर को घर में कई बार फोन कॉल करने और मास्टर ब्लास्टर के ऑफिस में जाकर सारा से शादी का प्रस्ताव दिए जाने के बाद मैटी को गिरफ्तार कर हिरासत में लिया गया था. गिरफ्तारी के बाद मीडिया से बातचीत में मैटी ने सारा के लिए अपने प्यार को समझाते हुए कई हैरान करने वाले कारण बताए.

हिंदुस्तान टाइम्स में छपी रिपोर्ट के मुताबिक, पश्चिम बंगाल के इस 32 वर्षीय शख्स ने पहली बार जब सचिन तेंदुलकर की बेटी को टेलीविजन पर देखा था, तभी वो उसके प्यार में पड़ गया. और जब आसमान में बिजली चमकी तो उसे अपने प्यार पर यकीन हो गया और उसने तभी तय कर लिया कि वो सारा से शादी करेगा.

मैटी ने बताया, "मैंने ऊपर आसमान में देखा और पूछा, 'क्या सारा तेंदुलकर मेरी पत्नी है?', और बिजली चमकने से यह सुनिश्चित हो गया. जब मैंने तेंदुलकर के ऑफिर में फोन किया तो मैंने यह बताया था."

अपनी कलाई पर 'देब एंड सारा' नाम से छपे टैटू को दिखाते हुए मैटी ने कहा, "टूटी-फूटी हिंदी में मैं कहता था, 'सारा तेंदुलकर मेरी पत्नी है और मैं उससे शादी करना चाहता हूं'." उसने कहा कि 2011 में जब सारा केवल 13 साल की ही थी, तभी उसने यह टैटू अपने हाथ में बनवा लिया था.

मैटी ने आगे कहा, "मेरे देखते ही जहाज, रेलगाड़ियां रुक जाती हैं. यहां तक की मैं दुनिया में सबसे अच्छा हूं. मुझे अपने किसी भी फैसले पर कोई पछतावा नहीं है."

इससे पहले सारा ने मैटी के खिलाफ शिकायत दर्ज करवाई थी. शिकायत के बाद पुलिस ने मैटी को पूर्वी मिदनापोर से गिरफ्तार किया. उसके परिवार ने मैटी की इन हरकतों की वजह उसकी असंतुलित मानसिक स्थिति को बताया.

गौरतलब है कि मैटी ही पहला ऐसा शख्स नहीं है जिसने सचिन तेंदुलकर की बेटी को परेशान किया. हाल ही में सारा तेंदुलकर का एक फर्जी ट्विटर हैंडल बनाने के आरोप में एक 39 वर्षीय तकनीकी कर्मचारी नितिन शिशोदे को भी साइबर पुलिस ने हिरासत में लिया था.

First published: 11 February 2018, 17:37 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी