Home » क्रिकेट » shakib Al hasan blames Mashrafe Mortaza wrong Decision for World Cup Defeat
 

विश्व कप में इस खिलाड़ी ने रचा था इतिहास, अब टीम की हार का कप्तान पर फोड़ा ठीकरा

कैच ब्यूरो | Updated on: 31 August 2019, 20:12 IST

विश्व कप के 12वें संस्करण को बीते एक महिने से ज्यादा का समय गुजर चुका है. सभी टीमों की निगाहें अब विश्व टेस्ट चैंपियनशिप और अगले साल ऑस्ट्रेलिया में होने वाले टी20 विश्व कप पर है. लेकिन बांग्लादेश के कुछ खिलाड़ी अभी भी विश्व कप से बाहर नहीं आ पाए है. बांग्लादेश के ऑल राउंडर खिलाड़ी शाकिब अल हसन जिन्होंने विश्व कप में काफी दमदरा प्रदर्शन किया था उन्होंने टीम के कप्तान मशरफे मुर्तजा पर निशाना साधा है.

शाकिब अल हसन ने विश्व कप के 12वें संस्करण में अपने प्रदर्शन के दम पर इतिहास रचा था. उन्होंने अपने बल्ले और गेंद दोनों से कमाल का खेल दिखाया था. शाकिब ने 600 से अधिक रन बनाए थे और 11 बल्लेबाजों को पवेलियन की राह भी दिखाई थी.


लेकिन टीम के बाकी खिलाड़ियों ने काफी निराशाजनक प्रदर्शन किया. टीम के कप्तान मशरफे मुर्तजा लगातार फ्लाफ रहे. जिसका खामियाजा टीम को भुगतना पड़ा और टीम सेमीफाइनल के लिए क्वालिफाई नहीं कर पाई. वहीं अब शाबिक ने बतौर कप्तान मशरफे मुर्तजा के खराब खेल को टीम की हार का जिम्मेदार माना है.

 

 

एक बंगाली अखबार से बात करते हुए उन्होंने कहा,'मेरा हमेशा से मानना था कि हम बहुत आगे जा सकते हैं, और अगर हम सबकी मदद लें तो शायद हम सेमी तक पहुंच सकें. जब कोई खिलाड़ी प्रदर्शन नहीं कर रहा होता है, तो वह टीम के खिलाड़ियों से अधिक और उच्चतम प्रदर्शन के बारे में सोचने लगता है. मुझे लगता है कि यही बात मशरफे भाई के साथ भी हुई. चूंकि कप्तान प्रदर्शन नहीं कर रहे थे, यह बात टीम के लिए समस्या बन गयी थी.'

 

इसके साथ ही उन्होंने कप्तान को लेकर भी अपनी राय रखी है. शकिब लंबे समय तक बांग्लादेश टेस्ट टीम की कमान संभाल चुके है. वहीं जब उनसे पूछा गया कि क्या वो दोबारा से कप्तान बनेंगे तो उन्होंने कहा,'मानसिक रूप से मैं उसके लिए तैयार नहीं हूं. लेकिन अभी कही न कही टीम को संभालना होगा, मैं यह जिम्मेदारी नहीं लेना चाहता क्योंकि अभी मैं अपने खेल पर ज्यादा ध्यान देना चाहता हूँ. मैं चाहता हूं कि नए खिलाड़ी जिम्मेदारी लें. जब तक आप उन्हें जिम्मेदारी नहीं देंगे, आप समझ नहीं पाएंगे कि वे कैसे करेंगे. जब मुझे 22 साल की उम्र में कप्तान बनाया गया, तब मुझे पता था कि मैं कितना अच्छा कप्तान हूं.'

पाकिस्तानी सेना की टोपी पहनकर बौखलाए शाहिद अफरीदी, हिटलर से की मोदी की तुलना

9 साल पहले पिता का हुआ निधन, मां ने किया बस कंडक्‍टर का काम, अब बेटे का हुआ टीम इंडिया में चयन

First published: 31 August 2019, 20:12 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी