Home » क्रिकेट » Shikhar Dhawan Murali Vijay Dinesh Karthik might never play Test cricket again after flop on overseas tours
 

इंग्लैंड दौरे ने खत्म किया टीम इंडिया के इन 3 बल्लेबाजों का करियर!

विकाश गौड़ | Updated on: 5 September 2018, 11:11 IST

टीम इंडिया ने पांच मैचों की पटौदी ट्रॉफी टेस्ट सिरीज को गंवा दिया है. टीम इंडिया इस सिरीज के अब तक हुए चार मैचों में से तीन मैच हार चुकी है. एक मैच में भले ही टीम इंडिया को जीत मिली हो, लेकिन इंग्लैंड ने ये सिरीज पांचवे टेस्ट से पहले ही 3-1 से अपने नाम कर ली है.

पांच मैचों की टेस्ट सिरीज का आखिरी मुकाबला 7 सितंबर से ओवल में खेला जाएगा. इस मैच को टीम इंडिया जीत भी जाए तो कोई बड़ी बात नहीं होगी. अगर हार भी जाए तो नंबर वन की कुर्सी बरकरार रहेगी. अभी तक देखा गया है कि टीम इंडिया की बल्लेबाज केवल कप्तान विराट कोहली के भरोसे रही है.

विराट कोहली के अलावा उपकप्तान अजिंक्य रहाणे और चेतेश्वर पुजारा ने जरूर कुछ इनिंग्स में रन बनाए लेकिन इनके अलावा कोई भी बल्लेबाज अर्धशतक तक नहीं लगा पाया है. यहां तक कि दो टेस्ट मैचों में तो टीम इंडिया लगभग जीते हुए मैचों को हारी है. पहला मैच टीम इंडिया 31 रन से जबकि चौथा मैच 60 रन से हारी है.

चार मैचों में अब तक विराट कोहली ने तीन ओपनर्स शिखर धवन, मुरली विजय और केएल राहुल को अपनाया है. इन तीन सलामी बल्लेबाजों ने कुल मिलाकर 8 इनिंग्स में 297 रन बनाए हैं. यही कारण है कि टीम इंडिया एजबेस्टन के बाद साउथेम्प्टन में भी मामूली अंतर से हारी है.

पटौदी सिरीज में मिली हार और टीम इंडिया के खराब प्रदर्शन का शिकार टीम के ही तीन बल्लेबाज हो सकते हैं. इसकी पूरी-पूरी संभावना है क्योंकि जो रिपोर्ट सामने आई है उसके मुताबिक टीम इंडिया के तीन खिलाड़ियों का ये आखिरी दौरा होगा. उम्मीद ये भी है कि शायद आगे इन्हें कभी टेस्ट मैच में खेलना का मौका तक न मिले.

इस लिस्ट में सबसे ऊपर हैं दिनेश कार्तिक. एमएस धोनी के टेस्ट क्रिकेट से संन्यास लेने के बाद टीम इंडिया को एक विकेटकीपर की जरूरत थी. बतौर विकेटकीपर ऋद्धिमान साहा अच्छी भूमिका निभा रहे थे. लेकिन आईपीएल के दौरान लगी चोट के बाद उन्हें सर्जरी के लिए जाना पड़ा, लिहाजा वह कई महीने के लिए टीम से बाहर हो गए. 

File Photo

साहा के बाहर बैठने के बाद टीम इंडिया की सलेक्शन कमिटी की नजर आईपीएल और निदहास ट्रॉफी में कुछ रन बनाने वाले दिनेश कार्तिक पर पड़ी. बीसीसीआई ने दिनेश कार्तिक को पहले अफगानिस्तान के खिलाफ मौका दिया और इंग्लैंड दौरे के लिए टीम में शामिल कर लिया. 11 साल बाद दिनेश कार्तिक ने कमबैक किया फिर भी रन नहीं बना पाए.

दिनेश कार्तिक के इंग्लैंड दौरे की बात करें तो उनको दो मैचों का चार पारियों में बल्लेबाजी का मौका मिला है लेकिन कार्तिक दो बार जीरो पर आउट हुए हैं और सिर्फ 21 रन इस दौरे पर बना पाए हैं. विकेट के पीछे की बात करें तो दिनेश कार्तिक ने पांच कैच पकड़े जरूर हैं लेकिन कुछ छोड़े भी हैं जो टीम के लिए घातक साबित हुए हैं.

इस दौरे पर पहले दो टेस्ट मैच खेलकर बैंच पर बैठे दिनेश कार्तिक को अब एक बात जरूर मालूम हो गई होगी कि अब उनको शायद कभी टेस्ट मैच में मौका नहीं मिलेगा क्योंकि 34 साल के दिनेश कार्तिक की जगह 20 साल के ऋषभ पंत ने ले ली है. पंत ने विकेट के पीछे अच्छा काम किया लेकिन एक दो पारियों में वो भी रन नहीं बना पाए हैं. 

File Phot

इंग्लैंड दौरे पर अपने टेस्ट करियर को तबाह करने वाले इन बल्लेबाजों की लिस्ट में दूसरा नाम मुरली विजय का है. अफगानिस्तान के खिलाफ मुरली विजय ने भले ही शतक लगाया हो लेकिन इंग्लैंड दौरे पर वह बुरी तरह से फेल हुए हैं. इतना नहीं साल 2014 में मुरली विजय इंग्लैंड दौरे पर सबसे ज्यादा रन बनाने वाले बल्लेबाज थे.

मुरली विजय के लिए साल 2018 की शुरुआत बेहद खराब रही और वह साउथ अफ्रीका के खिलाफ शतक तो छोड़िए अर्धशतक भी नहीं लगा पाए. मुरली विजय ने 6 पारियों में 1, 13, 46, 9, 8 और 25 रन बनाए. इसके बाद अब इंग्लैंड दौरे पर लॉर्ड्स की दोनों पारियों में जीरो पर आउट हो गए. ऐसे में विजय का करियर भी खतरे में है.

File Photo

इस लिस्ट में तीसरे नंबर पर हैं गब्बर शिखर धवन. इंग्लैंड के दौरे पर शिखर धवन एकलौते दाएं हाथ के टॉप ऑर्डर बैट्समैन हैं. बावदूज इसके वह लगातार फेल साबित हुए हैं. विजय और कार्तिक की तरह शिखर धवन भी एक अर्धशतक तक नहीं लगा पाए हैं. ऐसा ही कुछ उनके साथ इंग्लैंड दौरे पर साल 2014 में भी हुआ था.

इस दौरे पर 26, 13, 35, 44, 23 और 17 की पारी खेलने वाले धवन के पास कई मौके थे कि वह बड़ा स्कोर खड़ा लेकिन हर बार टीम को मंझधार में छोड़कर चले गए. इंग्लैंड दौरे पर शिखर धवन की कमजोरी स्विंग गेंदबाजी रही. लगातार धवन स्लिप में आउट हुए हैं. शिखर की कमी पूरी करने के लिए विराट के पास दो खिलाड़ी हैं.

ऐसे में टीम इंडिया के मैनेजमेंट को लग गया है कि शिखर धवन टेस्ट फॉर्मेट के लिए योग्य नहीं है. लगातार फेल होने की वजह से इंग्लैंड दौरे के बाद उन्हेें शायद टीम में शामिल ही नहीं किया जाएगा. धवन की जगह पृथ्वी शॉ और मयंक अग्रवाल ले सकते हैं. वैसे भी रोहित शर्मा पारी की शुरुआत करने के लिए तैयार हैं.

First published: 5 September 2018, 11:11 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी