Home » क्रिकेट » sourav ganguly fights with a person in train over seat in kolkata
 

जानिए क्यों गांगुली को 16 साल बाद ट्रेन का सफ़र करना पड़ा महंगा?

कैच ब्यूरो | Updated on: 17 July 2017, 10:39 IST

भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान सौरव गांगुली ने शनिवार को कोलकाता के पास अपनी एक कांस्य की मूर्ति का अनावरण किया. इस दौरान उन्होंने कोलकाता से मालदा तक ट्रेन से सफर किया, लेकिन ये सफर गांगुली के लिए अच्छा नहीं रहा. सौरव गांगुली जिस ट्रेन में बैठे, उसमें एक व्यक्ति से उनकी तीखी बहस हो गई. सौरव गांगुली लगभग 16 साल बाद ट्रेन का सफर कर रहे थे. 

गांगुली को उत्तर बंगाल के बालुरघाट में मूर्ति का अनावरण करना था. इसके लिए वो पदातिक एक्सप्रेस से एसी फर्स्ट क्लास से वहां जाने के लिए चढ़े, लेकिन जब गांगुली अपनी सीट पर पहुंचे तो एक व्यक्ति वहां पर पहले से ही बैठा था. इस दौरान गांगुली के साथ बंगाल क्रिकेट संघ के संयुक्त सचिन अभिषेक डालमिया भी थे.

गांगुली ने उसे अपनी सीट से हटने के लिए कहा तो वो उनसे भिड़ गया. इसके बाद सौरव गुस्से में ट्रेन से ही उतर गए, लेकिन बाद में गांगुली को एसी-2 की एक सीट दी गई. दरअसल यह गड़बड़ी तकनीकी कारणों की वजह से हुई थी.

सौरव गांगुली अभी बंगाल क्रिकेट एसोसिएशन के अध्यक्ष हैं, और बीसीसीआई की क्रिकेट सलाहकार समिति के सदस्य भी हैं. कार्यक्रम के दौरान सौरव गांगुली ने कहा कि उन्होंने इससे पहले 2001 में ट्रेन से सफर किया था.

First published: 17 July 2017, 10:39 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी